25-03-2020 Wednesday

जिला प्रशासन की संवेदना ने आहत परिवारों को कराया राहत का अहसास

जिला प्रशासन की संवेदना ने आहत परिवारों को कराया राहत का अहसास

गरीबों की भूख मिटाने घर-आँगन तक पहुंचे भोजन सामग्री के पैकेट

जैसलमेर, 25 मार्च/कोराना वायरस संक्रमण से निपटने जारी लॉक डाउन की वजह से रोजमर्रा की दिहाड़ी मजदूरी करके अपने परिवार को जैसे-तैसे पाल रहे रोजी-रोटी के संकट से ग्रस्त गरीब परिवारों के लिए भोजन की दिक्कत को दूर करने जैसलमेर जिला प्रशासन ने इन परिवारों को त्वरित राहत पहुंचाकर मानवीय संवेदनाओं का परिचय दिया है।

जैसलमेर जिले के विभिन्न ग्रामीण अंचलों में रह रहे चार गरीब परिवारों पर लॉक डाउन की वजह से आए खान-पान के संकट की जानकारी मिलते ही जिला कलक्टर ने तत्काल सरकारी नुमाइन्दों को भेजकर इनके घर-आँगन में भोजन सामग्री की सहायता पहुंचाई। अचानक अपने द्वार पर भोज्य सामग्री के पैकेट्स की पहुंच को देख गरीब परिवारों के लोग अभिभूत हो उठे और खासा सुकून महसूस किया।

विवरण इस प्रकार है कि जिला कलक्टर के पास आज किसी व्हाट्सअप ग्रुप पर यह जानकारी सामने आयी कि जिले में चार ऎसे गरीब परिवार ऎसे सामने आए हैं जिनके लिए लॉक डाउन ने जीवन निर्वाह का संकट पैदा कर दिया है। जानकारी में आया कि भणियाणा क्षेत्र अन्तर्गत झलोड़ा भाटियान की विधवा लूणी देवी दिहाड़ी मजदूरी करके जैसे-तैसे अपने पांच बच्चों का भरण-पोषण करती रही है।

इसी प्रकार भीखोड़ाई का गरीब रूपाराम चाय की थड़ी लगाकर अपनी नेत्रहीन पत्नी और बच्चों को पाल रहा है। विधवा संतु पत्नी सलीम खां मजदूरी से अपने 4 बच्चों का पालन करती रही है। इसी तरह विपन्नता के अभिशाप में जी रहा पूंजा राम भील के लिए अपने 6 बच्चों को जैसे-तैसे बड़ा कर रहा है। कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से सभी जगह लॉक डाउन की वजह से इनकी रोजी-रोटी पर संकट आन पड़ा है और खाने-पीने के लाले पड़ गए हैं।

जिला कलक्टर नमित मेहता ने बताया कि यह जानकारी सामने आने पर सरकारी मशीनरी से इन चारों ही गरीब परिवारों की वस्तुस्थिति की त्वरित जांच कराई गई और सप्ताह भर के लिए समुचित भोजन सामग्री के पैकेट इनके घर पहुंचवाए गए। इन्हें आश्वस्त किया कि आगे भी हरसंभव मदद की जाएगी और किसी को भी भूखा नहीं सोने दिया जाएगा। जिला कलक्टर ने बताया कि जिला प्रशासन और सरकार लॉक डाउन की स्थिति में सभी जरूरतमन्दों, गरीबों, निराश्रितों और वंचितों के लिए भोजन व्यवस्था मुहैया कराने के लिए पूरी तैयारियों के साथ जुटे हुए हैं।

अपने घर-आँगन तक खाने-पीने की सामग्री के पैकेट्स पाकर इन गरीब परिवारों ने राहत महसूस की और जिला प्रशासन तथा सरकार को लाख-लाख धन्यवाद दिया।

---000---

जैसलमेर जिले में कोरोना वायरस संक्रमण बचाव के ऎहतियाती उपाय युद्धस्तर पर जारी,

घर-घर पहुंचकर हो रहा है सर्वे का कार्य

398 टीमें अब तक 73 हजार 356 घरों तक पहुंचकर कर चुकी हैं 4 लाख से अधिक का सर्वे

 

जैसलमेर 25 मार्च/ जैसलमेर जिले में कोरोना वायरस की रोकथाम एवं बचाव के लिए सजगता एवं सतर्कता बरती जा रही है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.के. बारूपाल ने बताया कि जिला कलक्टर नमित मेहता के निर्देशो की अनुपालना में कोरोना वायरस की रोकथाम एवं बचाव के लिए जिले के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में 398 टीमों द्वारा मंगलवार तक कुल 73 हजार 356 घरों के 4 लाख 10 हजार 278 लोगों का सर्वे कार्य किया गया।

उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस सर्वे कार्य के दलों द्वारा आमजन को कोरोना वायरस संक्रमण के संबंध में जागरूक करने एवं लॉक डाउन अन्तर्गत जारी दिशा-निर्देशों का पूर्ण पालना करने के लिए भी निर्देशित किया जा रहा है। उन्हाेंने बताया कि जैसलमेर जिले में मंगलवार तक बाहर से आए कुल 384 लोगों को होम क्वारेन्टाईन में रहने की सलाह दी गई है।

प्रवासियों की स्क्रीनिंग पर विशेष जोर

उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (स्वास्थ्य) डॉ. मुरलीधर सोनी ने बताया कि पूरे जिले में चिकित्सा विभाग के समस्त चिकित्सकों, अधिकारियों एवं विभागीय कार्मिकों द्वारा आमजन को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के संबंध में जागरूक करने, जिले में आने वाले समस्त प्रवासियों की चैक पोस्ट पर ही स्क्रीनिंग करने, उनको आगामी 14 दिन तक घर पर ही रहने की सलाह देने एवं प्रवासियों की लाईन लिस्ट बनाकर प्रतिदिन नियमित मॉनिटरिंग संबंधी गतिविधियों पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

---000---

जैसलमेर - रोटरी क्लब आगे आया सहायता में,

जिला प्रशासन को दिए मॉस्क और भोजन पैकेट्स

जैसलमेर, 25 मार्च/कोरोना वायरस संक्रमण से जुड़ी आपदा की इस घड़ी में जरूरतमन्द लोगों को सहायता के लिए स्वयंसेवी संस्थाएं भी सामाजिक सरोकारों भरे दायित्व निभाने में अपनी भूमिका निभा रही हैं। लॉक डाउन की वजह से जरूरतमन्दों और वंचितों के लिए भोजन सामग्री मुहैया कराने तथा संक्रमण से बचाव के लिए रोटरी क्लब जैसलमेर गोल्डन सिटी द्वारा बुधवार को भोजन सामग्री के 200 पैकेट तथा 750 मॉस्क वितरण के लिए जिला प्रशासन को सुपुर्द किए गए।

जैसलमेर जिला कलक्ट्री परिसर में रोटरी क्लब जैसलमेर गोल्डन सिटी की ओर से क्लब अध्यक्ष प्रमोद भाटिया, सचिव पी.एस. राजावत एवं रोटेरियन गिरीश व्यास ने यह सामग्री जिला कलक्टर नमित मेहता को सुपुर्द की। इस अवसर पर जैसलमेर विधायक रूपाराम, अतिरिक्त जिला कलक्टर ओ.पी. विश्नोई, सहायक निदेशक (लोक सेवाएं) भारत भूषण गोयल, जिला रसद अधिकारी भागुराम महला आदि अधिकारीगण उपस्थित थे।

भोजन व्यवस्था के लिए एक लाख का सहयोेग दिया

ग्राम पंचायत लाठी को भामाशाह दावद खां पुत्र रमजान खां मंगलिया द्वारा कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से लॉक डाउन की स्थिति में जरूरतमन्दों को भोजन सामग्री मुहैया कराने के लिए अपनी ओर से एक लाख रुपए की सहायता राशि भेंट की।

---000---

जैसलमेर - कृषि विभाग ने फसल कटाई के संबंध में जारी किए दिशा-निर्देश

जैसलमेर, 25 मार्च/वर्तमान में विभिन्न फसलों की हो रही कटाई को ध्यान में रखते हुए कृषि विभाग ने फसल कटाई कार्य में कोविड- 19 के खतरे को दूर करने के लिए दिशा-निर्देश दिए हैं। उन्होंने फसल कटाई यथासंभव मशीन चलित उपकरणों से की जाए, हस्त चलित कटाई उपकरण काम में लेने पर उपकरणों को दिन में कम से कम 3 बार साबुन के पानी से कीटाणु रहित (सेनेटाईज)करने के निर्देश दिए हैं।

कृषि उप निदेशक आरएस नारवाल ने बताया कि फसल कटाई में सोशल डिस्टेंसिंग की सख्ती से पालना करने के साथ खेत में फसल काटने, खाना खाते समय एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति के मध्य कम से कम 5 मीटर की दूरी रखने के निर्देश दिए गए हैं। इसके साथ ही कहा गया है कि खाने के बर्तन अलग-अलग रखें तथा प्रयोग पश्चात साबुन के पानी से अच्छी तरह साफ करें। इसी प्रकार एक व्यक्ति द्वारा काम में लिए जाने वाले उपकरण को दूसरा व्यक्ति कदापि काम में ना लें तथा कटाई करने वाले सभी व्यक्ति अपने-अपने उपकरण ही काम में लें।

यह भी निर्देश दिए गए हैं कि इसी प्रकार कटाई के दौरान बीच-बीच में अपने हाथों को साबुन के पानी से अच्छी तरह साफ करते रहें। साथ ही कटाई कार्य अवधि में पहले दिन पहने कपड़े दूसरे दिन काम में ना लें एवं काम में लिए कपड़ों को अच्छी तरह धोकर धूप में सुखाने के पश्चात पुनः काम में लें। कटाई के दौरान सभी व्यक्तियों से कहा गया है कि वे  अपनी अलग-अलग पानी की बोतल रखें और कटाई करने वाले सभी व्यक्ति मास्क का प्रयोग अनिवार्य रूप से करें।

विभाग ने निर्देश दिए हैं कि अगर किसी व्यक्ति को खाँसी, जुकाम, बुखार, सरदर्द, बदन दर्द आदि के लक्षण हैं तो उसे फसल कटाई कार्य से अलग रखें तथा तत्काल अपने निकटतम स्वास्थ्यकर्मी को सूचित करें। खेत में पर्याप्त मात्रा में पानी व साबुन की उपलब्धता रखें।

यह निर्देश दिए गए हैं कि थ्रेसिंग कार्य के दौरान भी उपरोक्त अनुसार सोशल डिस्टेंस, मास्क का प्रयोग, खाने और पानी पीने के बर्तनों का प्रयोग आदि में सभी सावधानियों का पूर्ण गंभीरता से पालन करें।

----000-----

जैसलमेर - खाद्य सामग्री की दुकानों का औचक निरीक्षण

जैसलमेर, 25 मार्च/जिला कलक्टर नमित मेहता के निर्देशानुसार जिला रसद अधिकारी भागुराम महला ने मंगलवार को टीम गठित कर शहर में खाद्य सामग्री की  कालाबाजारी की शिकायतों पर निरीक्षण करने के निर्देश दिए।

रसद अधिकारी भागुराम महला ने बताया कि प्रवर्तन निरीक्षक सवाईराम तथा खाद्य
 सुरक्षा अधिकारी फूलसिंह बाजिया की टीम ने खाद्य सामग्री की कालाबाजारी की सूचना मिलने पर शहर की परचून दुकानों व फल-सब्जी की दुकानों का औचक निरीक्षण किया लेकिन यह सामने आया कि दुकानदारों द्वारा दर से अधिक दाम नहीं लिए जा रहे हैं।

इसी प्रकार उन्होंने सभी दुकानदारों को पाबंद किया कि आम जनता को उचित दाम पर ही खाद्य सामग्री, फल सब्जी उपलब्ध कराई जाए। उन्होंने आम जनता से अपील की है कि आवश्यकता अनुसार ही खाद्य सामग्री खरीदें तथा अनावश्यक स्टॉक नहीं करें। उन्होंने बताया कि प्रशासन द्वारा खाद्य सुरक्षा सामग्री की उपलब्धता में कोई कमी नहीं आने दी जाएगी।

&&&000&&&