23-03-2020 Monday

जैसलमेर में लॉक डाउन दूसरे दिन भी जारी रहा,

जैसलमेर में लॉक डाउन दूसरे दिन भी जारी रहा,

जिला कलक्टर ने पुलिस एवं प्रशासन के अधिकारियों के साथ किया दौरा,

शहर व समीपवर्ती क्षेत्रों में लॉक डाउन एवं सम सामयिक हालातों की ली जानकारी

जैसलमेर, 23 मार्च/जिला कलक्टर नमित मेहता ने सोमवार को पुलिस एवं प्रशासन के अधिकारियों के साथ जैसलमेर शहर एवं आस-पास के क्षेत्रों का दौरा किया और लॉक डाउन की जमीनी हकीकत से रूबरू हुए। इस दौरान अतिरिक्त जिला कलक्टर ओ.पी. विश्नोई, अतिरिक्त जिला पुलिस अधीक्षक राकेश बैरवा एवं अन्य अधिकारी भी दौरे में साथ थे।

जिला कलक्टर ने जैसलमेर शहर के भीतरी हिस्सों व मुख्य बाजारों का दौरा किया तथा जहां दुकानें ख्ुाली देखी गई, उन व्यापारियों को समझाईश कर शटर डाउन कराए तथा संयम बरतने के निर्देश दिए। उन्होंने व्यवसायियों से कहा कि लॉक डाउन में पूरा सहयोग करें और अपने कारोबार कुछ दिन के लिए बंद रखते हुए घरों में ही रहें ताकि समुदाय और जैसलमेर को कोरोना वायरस से मुक्त रखने में मदद मिल सके।

जिला कलक्टर ने जैसलमेर-जोधपुर मार्ग पर शहर में प्रवेश करने वाले चुंगी नाका क्षेत्र में बनाई गई चैक पोस्ट का निरीक्षण किया और वहाँ तैनात कार्मिकों से कहा कि सख्ती से चैकिंंग करें और वाहनों के आवागमन को रोकें।

जिला कलक्टर ने बाड़मेर-जोधपुर रिंग रोड पर चल रहे पुलिया निर्माण कार्य तथा वहां काम करते हुए पुरुष एवं महिला श्रमिकों को देखा तथा इस पर वहां काम करा रहे ठेकेदार के प्रतिनिधि को फटकारते हुए तत्काल काम रोक देने के निर्देश दिए और आगामी 31 मार्च तक काम रोके रखने एवं श्रमिकों को घर भेजने के निर्देश दिए।

जिला कलक्टर ने उन दुकानों को भी बंद करने के निर्देश दिए जिन दुकानों पर दूध पूरा बिक चुका है, स्टॉक नहीं है लेकिन दूध के नाम पर दुकान चलाकर दूसरी सामग्री बेचने के लिए दुकानें खुली रखी हैं।

---000---

फोटो - जिला कलक्टर श्री नमित मेहता ने जैसलमेर शहर एवं आस-पास के क्षेत्रों का दौरा किया और लॉक डाउन से संबंधित पूरी सख्ती बरतने के निर्देश दिए।

 

अपंगता पेंशन प्राप्त करने वाले पूर्व सैनिकों को आयकर में छूट

जैसलमेर, 23 मार्च/रक्षा लेखा प्रधान नियंत्रक (पेंशन) इलाहाबाद के सर्कुलर नम्बर 211 के अनुसार अपंगता पेंशन प्राप्त करने वाले पूर्व सैनिकों को पेंशन में आयकर छूट के आदेश दिए गए हैं।

जिला सैनिक कल्याण अधिकारी भोजराजसिंह राठौड़ ने बताया कि रक्षा लेखा प्रधान नियंत्रक (पेंशन) इलाहाबाद ने अपंगता पेंशन प्राप्त करने वाले पूर्व सैनिकों को पेंशन में आयकर छूट के आदेश जारी किए हैं। उन्हाेंने बताया कि अपंगता पेंशन प्राप्त करने वाले पूर्व सैनिकों के बैंक द्वारा पेंशन से आयकर काटा गया है वे पुनः राशि प्राप्त करने के लिए कार्यवाही कर सकते हैं।

----000----

कोरोना वायरस की रोकथाम के संबंध में निजी चिकित्सालयों

के संचालकों के साथ बैठक आयोजित

  जैसलमेर, 23 मार्च/जिले में कोरोना वायरस की रोकथाम एवं बचाव के संबंध में चिकित्सा विभाग द्वारा पूर्ण सजगता बरतते हुए आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित की जा रही है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ बी के बारूपाल ने बताया कि स्वास्थ्य भवन स्थित कार्यालय में जैसलमेर शहरी क्षेत्र में संचालित निजी चिकित्सालयों के संचालकों के साथ सोमवार को बैठक का आयोजन किया गया।

 बैठक में गोल्डन सिटी हॉस्पीटल, माहेश्वरी हॉस्पीटल, आर.एल. हॉस्पीटल, न्यू राजस्थान हॉस्पीटल एंव ड्रीम हॉस्पीटल के संचालकों ने भाग लिया। डॉ बारूपाल ने निजी चिकित्सालयों में कोरोना वायरस की रोकथाम एंव बचाव के लिये आवश्यक सतर्कता बरती जाए। प्रतिदिन चिकित्सा संस्थानाेंं का विसंक्रमण करने संबंधित कार्यवाही तथा प्रत्येक चिकित्सक व समस्त कार्मिकों द्वारा फेस मॉस्क एंव सेनिटाईजर का उपयोग किया जाए।

 उन्होंने निर्देश दिए कि चिकित्सालयों में धारा 144 के निर्देशों की पालना करते हुए अत्यधिक भीड़ नहीं रखी जाए। किसी भी कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीज आने पर तत्काल उसे श्रीजवाहिर चिकित्सालय भेज कर स्क्रीनिंग करवायी जाए। डॉ. बारूपाल ने माहेश्वरी हॉस्पीटल में 5 बैड, न्यू राजस्थान हॉस्पीटल, आर.एल हॉस्पीटल एवं गोल्डन सिटी हॉस्पीटल में 02-02 बैड कोरोना आईसोलेशन बैड के रूप मेंं रिजर्व रखने के लिये निर्देश दिये। इस पर निजी चिकित्सालयों के प्रभारियों ने तत्काल सहमति प्रदान की।

चिकित्सा विभाग अलर्ट, प्रत्येक स्तर पर बरती जा रही सतर्कता

 जैसलमेर जिले में चिकित्सा विभाग द्वारा कोरोना वायरस के संक्रमण एवं रोकथाम, बचाव के लिये प्रत्येक स्तर पर ऎहतियाति उपाय किये जा रहे हैं। प्रत्येक पीएचसी/सीएचसी स्तर पर कोरोना वायरस मेडिकल स्क्रीनिंग टीमों का गठन किया गया है। सांकड़ा खण्ड में भी कोरोना वायरस मेडिकल स्क्रींंिनग टीम गठित की गयी है। डॉ. बारूपाल ने बताया कि जैसलमेर जिला स्तर पर कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम हेतु रेपिड रेस्पोंस टीम तथा जोन स्तर से भी भिजवायी गयी रेपिड रेस्पोंस टीम द्वारा कार्य किया जा रहा है।

----000----

जैसलमेर - व्यवसायियों और भामाशाहों ने स्वैच्छिक सहयोग का हाथ बढ़ाया,

कहा - आपदा की इस घड़ी में करेंगे हर संभव सहयोग, देंगे पूरी सेवा

प्रशासन की सर्वोच्च प्राथमिकता - कोई भूखा न रहे, सबके लिए होगा इंतजाम

जैसलमेर, 23 मार्च/कोरोना वायरस संक्रमण की ऎहतियाती रोकथाम के मद्देनज़र आगामी 31 मार्च तक जारी लॉक डाउन की अवधि में जरूरतमन्दों को जरूरी खाद्यान्न एवं सामग्री मुहैया कराने तथा आवश्यक सुविधाओं एवं सेवाओं के लिए जैसलमेर के उदारमना भामाशाहों एवं व्यवसायियों ने जिला प्रशासन को हरसंभव सहयोग देने का विश्वास दिलाया है।

जिला कलक्टर नमित मेहता की पहल पर सोमवार को जैसलमेर जिला कलक्ट्री सभा कक्ष में आयोजित बैठक में जैसलमेर के भामाशाहों एवं व्यवसायियों व संगठनों के प्रतिनिधियों ने यह संकल्प व्यक्त किया।

जिला कलक्टर नमित मेहता ने कहा कि सरकार की सर्वोच्च प्राथमिक लॉक डाउन के इस कठिन समय में जरूरतमन्दों को भोजन मुहैया कराने की है और इस दिशा में जैसलमेर जिला प्रशासन बहुआयामी प्रयासों में जुटा हुआ है। यह व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है कि जरूरतमन्दों को भोजन मुहैया होता रहे और कोई भूखा न रहे, सबके लिए इंतजाम किया जा रहा है।

बैठक में जिला कलक्टर के साथ ही अतिरिक्त जिला कलक्टर ओ.पी. विश्नोई, अतिरिक्त जिला पुलिस अधीक्षक राकेश बैरवा, नगर परिषद आयुक्त बृजेश राय, जिला रसद अधिकारी भागुराम महला, खाद्य निरीक्षक फूलसिंह बाजिया आदि अधिकारी एवं व्यवसायी तथा व्यापारिक संगठनों के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

जिला कलक्टर मेहता ने लॉक डाउन की स्थिति में कमजोर तबकों, निराश्रितों, जरूरतमन्दों को भोजन पैकेट व खाद्यान्न उपलब्ध कराने के लिए उदारतापूर्वक आगे आएं। जिला कलक्टर ने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा जिले में लंगर संचालित किए जाने हैं तथा लंगर लगाए जाएंगे।

---000---

फोटो - जिला कलक्टर श्री नमित मेहता भामाशाहों व व्यवसायियों की बैठक लेते हुए।

लॉक डाउन के दौरान अत्यावश्यक सेवाओं व अस्पताल

आने-जाने के लिए जैसलमेर शहर में 12 ऑटो रिक्शा अघिकृत,

जिला परिवहन अधिकारी ने जारी की चालकों के नाम,

मोबाइल नम्बरों एवं ऑटो रिक्शा के नम्बरों की सूची

जैसलमेर, 23 मार्च/आगामी 31 मार्च तक लॉक डाउन की स्थिति में कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के उद्देश्य से लोक हित में सार्वजनिक यात्री वाहनों के संचालन पर रोक लगी हुई है। इस स्थिति में जैसलमेर शहरी क्षेत्र में अति आवश्यक सेवाओं के लिए, स्वास्थ्य केन्द्रों एवं अन्य क्षेत्रों में आवागमन के लिए 12 ऑटो रिक्शा की व्यवस्था की गई है। इन सभी  को जिला परिवहन अधिकारी द्वारा परमिट जारी किए गए हैं।

जिला परिवहन अधिकारी टीकूराम पूनड़ ने बताया कि हनुमान चौराहा एवं श्री जवाहिर राजकीय चिकित्सालय में 3-3 तथा गोपा चौक, गड़ीसर चौराहा एवं गांधी कॉलोनी में 2-2 ऑटो रिक्शा संचालन की स्वीकृति जारी की गई है। इन सभी 12 ऑटो रिक्शा चालकों के नाम, मोबाइल नम्बर, परमिट संख्या एवं खड़े किए जाने वाले स्थान की सूची विभाग ने जारी की है।

ऑटो रिक्शा की ये हैं दरें

इस संबंध में जिला परिवहन अधिकारी द्वारा जारी आदेश में स्पष्ट किया गया है कि ऑटो रिक्शा वाहन चालकों द्वारा उन्हीं निर्धारित दरों पर ही यात्रियों से किराया लिया जाए, जिसे परिवहन विभाग द्वारा स्वीकृत किया गया है। इसके अनुसार पहले एक किलोमीटर तक के लिए 15 रुपया तथा इसके बाद के किलोमीटर के लिए प्रति किलोमीटर 9 रुपए की किराया दर निर्धारित की गई है। ठहराव के लिए प्रति मिनट 50 पैसे की दर से ठहराव किराया लिया जा सकेगा। यात्री के साथ पैकेज भार 10 किलोग्राम तक कोई राशि नहीं ली जा सकती। दस किलोग्राम से अधिक से लिए पांच रुपए प्रति पैकेज लिया जा सकता है।

इससे अधिक किराया लिया जाना कानूनन अपराध है। इन सभी 12 ऑटो रिक्शाओं का संचालन जैसलमेर नगर परिषद क्षेत्र में ही किया जा सकता है।

---000---

लॉक डाउन - कोरोना वायरस संक्रमण रोकथाम मुहिम

छह स्थानों पर स्थापित नियंत्रण कक्षों से ली जा सकेगी वाहन सुविधा सहायता

जैसलमेर, 23 मार्च/कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के उद्देश्य से लॉक डाउन के मद्देनज़र आवश्यकता के अनुसार सार्वजनिक यात्री वाहनों के संचालन की आपातकालीन जरूरत की स्थिति में उपखण्ड अधिकारी अथवा जिला परिवहन अधिकारी द्वारा अनुमति दी जा सकती है।

जिला मजिस्ट्रेट ( कलक्टर ) नमित मेहता द्वारा जारी आदेश के अनुसार आपातकालीन स्थिति में सार्वजनिक यात्री वाहन संचालन की स्वीकृति के लिए जिला एवं खण्ड स्तरीय कंट्रोल रूम स्थापित किए गए हैं, जहां से सम्पर्क कर अनुमति ली जा सकती है। इस आदेश की पालना सुनिश्चित करने के लिए जिला पुलिस अधीक्षक एवं जिला परिवहन अधिकारी उत्तरदायी रहेंगे।

छह स्थानों पर चल रहे हैं कंट्रोल रूम

आदेश में बताया गया है कि जिले में छह स्थानों पर कंट्रोल रूम संचालित किए जा रहे हैं। इनमें उपखण्ड कार्यालय जैसलमेर के नियंत्रण कक्ष का दूरभाष नम्बर  02992-250082/251127 उपखण्ड कार्यालय पोकरण के नियंत्रण कक्ष का दूरभाष नम्बर  02994-222237, उपखण्ड कार्यालय फतेहगढ़ के नियंत्रण कक्ष का दूरभाष नम्बर  02993-274535, उपखण्ड कार्यालय भणियाणा के नियंत्रण कक्ष का दूरभाष नम्बर  03019-630116, जिला परिवहन कार्यालय जैसलमेर  के नियंत्रण कक्ष का नम्बर  9462378917 तथा जिला मुख्यालय के नियंत्रण कक्ष का दूरभाष नम्बर  02992-250082 है।

आदेश में कहा गया है कि जिला परिवहन अधिकारी जिला प्रशासन से समन्वय कर स्वास्थ्य केन्द्रों, एयरपोर्ट, रेल्वे स्टेशन आदि के लिए आवश्यकतानुसार न्यूनतम ऑटो रिक्शा चिह्नित कर संचालन की अनुमति प्रदान करेंगे।

---000---

लॉक डाउन के मद्देनज़र जरूरतमन्दों के लिए जैसलमेर में जन रसोई शुरू,

500 से अधिक लोगों को वितरित किए  गए भोजन के पैकेट्स

जैसलमेर, 23 मार्च/कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के ऎहतियाती उपायों के साथ ही लॉक डाउन की स्थिति में निराश्रितों, जरूरतमन्दों, गरीब श्रमिकों आदि के भोजन के लिए प्रशासन ने व्यापक व्यवस्थाओं को अंजाम दिया है।

इसके अन्तर्गत जैसलमेर में जन रसोई की शुरूआत होने के साथ ही जरूरतमन्दों को भोज्य सामग्री के पैकेट प्रदान किए जाएंगे। सोमवार शाम जन रसोई की गतिविधियां आरंभ हो गई, इससे गरीबों, जरूरतमन्दों और श्रमिकों को राहत का अहसास हुआ। इन लोगों ने भोजन के पैकेट्स की व्यवस्था के लिए जिला प्रशासन, नगर परिषद एवं सभी सहयोगियों का आभार जताया।

नगर परिषद सभापति हरिवल्लभ कल्ला, उप सभापति खींव सिंह, संबंधित क्षेत्र के पार्षदों, अतिरिक्त जिला कलक्टर ओ.पी. विश्नोई तथा नगर परिषद के आयुक्त बृजेश राय आदि ने सोमवार शाम बाड़मेर रोड स्थित केन्द्रीय बस स्टैण्ड क्षेत्र, लिंक रोड पर जीएसएस के सामने वाले क्षेत्र आदि में जरूरतमन्दों और गरीबों को भोजन के पैकेट्स वितरित कर जन रसोई की शुरूआत की। इस अवसर पर जैसलमेर विकास समिति के सचिव चन्द्रप्रकाश व्यास तथा नगर परिषद के अधिकारियों एवं कार्मिकों तथा शहरी जन प्रतिनिधियों ने भी भोजन पैकेट्स वितरित करने के साथ ही जन रसोई से संबंधित विभिन्न व्यवस्थाओं में भागीदारी अदा की।

---000---

पेयजल प्रबन्धन को सुचारू बनाए रखने तथा पेयजल से संबंधित शिकायतों/समस्याओं के निवारण के लिए जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग, जैसलमेर द्वारा नियंत्रण कक्षों की स्थापना की गई है।