17-03-2020 Tuesday

जैसलमेर शहर में कोरोना वायरस संक्रमण के लिए सार्वजनिल स्थलों पर स्प्रे शुरू

जैसलमेर, 17 मार्च/कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के ऎहतियाती उपायों के अन्तर्गत जैसलमेर शहर में सार्वजनिक स्थानों पर स्प्रे की शुरूआत मंगलवार को जिला कलक्ट्री परिसर से शुरू हुई।

कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए जैसलमेर शहर में नगर परिषद द्वारा मंगलवार को सोडियम हाईपोक्लोराईड़ रसायन के छिड़काव की शुरूआत की गई। यह शुरूआत जिला कलक्ट्री परिसर से की गई जहां रेलिंग, सीढ़ियों, खंभों, रैम्प, फर्श आदि पर स्प्रे से की गई। न्यायालय परिसरों और अन्य कार्यालयों में भी छिड़काव किया गया।

नगर परिषद आयुक्त बृजेश राय ने बताया कि शहर के भीड़-भाड़ वाले क्षेत्रों, उद्यानों, सार्वजनिक स्थलों, राजकीय कार्यालयों, रेलिंग्स आदि स्थलों पर अभियान के रूप में यह कार्य किया जाएगा। जिला कलक्टर के निर्देश पर शहर में व्यापक स्तर पर यह कार्य कराया जाएगा। नगर परिषद आयुक्त ने बताया कि शहर में कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के सभी प्रकार के ऎहतियाती उपायों के बारे में व्यापक प्रचार-प्रसार किया जा रहा है।

---000---

जिला कलक्टर ने कोरोना वायरस आईसोलेशन सेंटर का अवलोकन किया,

विभिन्न प्रबन्धों का लिया जायजा,

सभी आवश्यक सेवाओं के साथ हमेशा मुस्तैद रहने के निर्देश दिए

जैसलमेर, 17 मार्च/कोराना वारस संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के ऎहतियाती उपायों के व्यापक प्रचार-प्रसार एवं लोक जागृति संचार गतिविधियों के साथ ही आवश्यकता पड़ने पर इससे संबंधित चिकित्सकीय प्रबन्धों को मुस्तैद रखा हुआ है।

जैसलमेर जिला मुख्यालय स्थित श्री जवाहिर चिकित्सालय में कोरोना वायरस से संबंधित आइसोलेशन सेंटर स्थापित है जहाँ कोरोना वायरस संक्रमण से संबंधित जांच एवं उपचार आदि के लिए ऎहतियाती व्यवस्थाएं सुनिश्चित की हुई हैं।

जिला कलक्टर नमित मेहता ने प्रशासनिक अधिकारियों और चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभागीय अधिकारियों तथा चिकित्सकों के साथ मंगलवार शाम श्री जवाहिर चिकित्सालय का अवलोकन किया और चिकित्सालय में कोरोना वायरस से संबंधित आईसोलेशन वार्ड को देखा तथा चिकित्सकीय प्रबन्धों एवं व्यवस्थाओं के बारे में गहन जानकारी ली। जिला कलक्टर ने वार्ड, परिसरों आदि को देखा तथा चिकित्सकीय उपकरणों और चिकित्सकों एवं चिकित्साकर्मियों की पारी वार ड्यूटी के बारे में जानकारी ली।

इस दौरान अतिरिक्त जिला कलक्टर ओ.पी. विश्नोई, सहायक निदेशक(लोक सेवाएं) भारतभूषण गोयल, नगर परिषद आयुक्त बृजेश राय, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.के. बारूपाल, प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ. बी.एल. बुनकर सहित चिकित्साधिकारी साथ थे।

प्रमुख चिकित्सा अघिकारी डॉ. बी.एल. बुनकर एवं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.के. बारूपाल ने जिला कलक्टर ने सभी व्यवस्थाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी और आईसोलेशन वार्ड की व्यवस्थाओं एवं अत्याधुनिक चिकित्सकीय उपकरणों आदि के बारे में अवगत कराया।

जिला कलक्टर नमित मेहता ने कोरोना वायरस संक्रमण के मद्देनज़र सभी प्रकार की सतर्कता एवं ऎहतियाती उपाय बरतने के निर्देश दिए औरा कहा कि सभी प्रकार की आवश्यक सुविधाएं हमेशा तैयार रखें।

जिला कलक्टर ने अस्पताल के विभिन्न वार्डों, ट्रोमा सेंटर, सुलभ सुविधालय तथा परिसरों का अवलोकन किया और साफ-सफाई के प्रबन्धों को हमेशा बेहतर बनाए रखने आदि के निर्देश दिए।

---000---

कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए ताजा आदेश जारी,

50 से अधिक व्यक्तियों के एकत्र होने पर रोक, 31 मार्च तक लागू रहेगा यह आदेश

जैसलमेर, 17 मार्च/कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के ऎहतियाती उपायों के अन्तर्गत चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने विभिन्न निर्धारित स्थलों पर 50 से अधिक व्यक्तियों के एकत्र होने पर तुरन्त प्रभाव से प्रतिबंध लगा दिया है। यह प्रतिबंध 31 मार्च तक जारी रहेगा।

जिला कलक्टर नमित मेहता ने बताया कि इस आशय का आदेश चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव रोहित कुमार सिंह ने जारी किया है। इसमें कहा गया है कि कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के लिए समस्त सार्वजनिक स्थलों (यथा - पर्यटन स्थल, संग्रहालय, ऎतिहासिक स्मारक, किले, हटवाड़े, पार्क, खेल मैदान, चिड़ियाघर, स्पॉ, अभ्यारण्य, सार्वजनिक मेले, स्वीमिंग पुल, सांस्कृतिक एवं सामाजिक केन्द्र आदि) पर 50 सेअधिक व्यक्तियों के एकत्र होने पर 31 मार्च तक तुरन्त प्रभाव से प्रतिबंध लगा दिया गया है। यह आदेश राजस्थान ऎपीडेमिक डिजीजेज एक्ट, 1957 की धारा (2) में प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए जारी किया गया है।

जिला कलक्टर नमित मेहता ने इस बारे में जिले के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि इस आदेश की सभी स्तरों पर कड़ी पालना कराया जाना सुनिश्चित करें।

---000---

बचाव ही है कोरोना से मुक्त रहने का सर्वोत्तम उपाय,

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने जारी की विस्तृत एड्वाइजरी,

लोगों से की अपील - हिदायतों को अपनाएं और कोरोना संक्रमण से बचें,

जैसलमेर, 17 मार्च/जिला कलक्टर नमित मेहता ने कोरोना की रोकथाम के लिए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी एडवाइजरी का पूरा-पूरा पालन करने के निर्देश दिए हैं और इस एड्वाईजरी को अक्षरशः अमल में लाने की अपील की है।

जिला कलक्टर ने विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि एडवायजरी के अनुसार कोरोना संक्रमण की रोकथाम ही बचाव का सर्वोत्तम उपाय है। लोगों को आपस में मिलते समय सुरक्षित दूरी रखने व यथासंभव भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर जाने से बचने की सलाह दी गयी है। एक-दूसरे से मिलते समय आपस में दूरी बनाये रखने से समुदाय में इस बीमारी के फैलाव, अस्वस्थता और इससे होने वाली मृत्यु को कम किया जा सकता है।

एडवाइजरी के अनुसार लोगों को आपस में मिलते समय हाथ मिलाना तथा गले लगने जैसे अभिवादनों से बचना चाहिए। साथ ही स्वच्छता तथा सुरक्षित शारीरिक दूरी बनाये रखें। कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव हेतु प्रदेश के समस्त सार्वजनिक स्थलों यथा  पर्यटन स्थल, संग्रहालय, ऎतिहासिक स्मारक, किले, हटवाडे, पार्क, खेल मैदान, चिडियाघर, स्पा, अभ्यारण्य, सार्वजनिक मेले, स्वीमिंग पूल, सांस्कृतिक एवं सामाजिक केन्द्र आदि पर 50 से अधिक व्यक्ति एकत्र होने पर रोक लगा दी गयी है।

सभी शिक्षण संस्थान 30 मार्च, 2020 तक बन्द कर दिये गये हैं। विद्यार्थियों की परीक्षाओं को देखते हुए ऑन लाइन शिक्षा को बढ़ावा देने का आग्रह किया गया है। बोर्ड एवं वार्षिक परीक्षा के दौरान छात्रों के मध्य एक मीटर/सुरक्षित दूरी सुनिश्चित करने के बाद ही परीक्षा आयोजित करने के निर्देश दिए गए हैं।

एडवाइजरी के अनुसार निजी क्षेत्र के संगठन/नियोक्ता कर्मचारियों को यथा संभव घर से कार्य करने की अनुमति प्रदान करें । बैठकों का आयोजन यथा संभव वीडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से किया जाए। साथ ही बड़ी संख्या में प्रतिभागी शामिल होने वाली बैठकों को यथासंभव पुर्ननिर्धारित करने की सलाह दी गई है। आमजन पूर्व नियोजित शादियों एवं समारोह में आगंतुकों की संख्या यथा संभव सीमित रखने एवं गैर आवश्यक सांस्कृतिक तथा सामाजिक समारोह को यथासंभव स्थगित करने का सुझाव दिया गया है।

रेस्टोरेन्ट अथवा होटल/ढाबों के प्रबन्धक यह सुनिश्चित करें कि बार-बार छूने वाली सतहों की सफाई तथा हैंड वॉश प्रोटोकोल का पालन हो। साथ ही दो टेबलों के मध्य कम से कम एक मीटर दूरी/सुरक्षित दूरी का फासला रखने एवं ग्राहकों को यथा सम्भव खुली हवा में बैठने के लिए प्रोत्साहित किया जाये।

स्थानीय अधिकारियों द्वारा खेल आयोजन तथा प्रतियोगिताओं के आयोजकों से संपर्क एवं संवाद स्थापित कर ऎसे होने वाले कार्यक्रमों को यथा संभव स्थगित करने हेतु कहा गया है।

स्थानीय निकायों के चुने हुये जनप्रतिनिधि/अधिकारियों के द्वारा व्यापारी संघ तथा अन्य संगठनों के साथ संवाद स्थापित कर व्यवसायिक स्थल यथा सब्जी मण्डी, अनाज मण्डी, अन्य बाजारों में कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव हेतु क्या करें व क्या नहीं करें के संदेश आमजन तक पहुंचाने के लिए अभियान संचालित करने की एडवायजरी जारी की गई है।

विभाग द्वारा जारी की एडवायजरी के अनुसार बाजारों में अधिक भीड़ न हो, इस हेतु आवश्यक उपाय करने के साथ ही सभी व्यवसायिक गतिविधियों मेें ग्राहकों के मध्य एक मीटर की दूरी रखी जाने के निर्देश हैं। आमजन गैर जरूरी यात्राओं से बचे एवं सार्वजनिक परिवहन यथा बस, रेलगाड़ी, हवाई जहाज में सुरक्षित दूरी बनाकर यात्रा करने के साथ ही संबंधित अधिकारी इनकी सतहों को नियमित तथा उचित रूप से विसंक्रमित सुनिश्चित करने की सलाह दी गयी है।

समस्त चिकित्सा संस्थानों द्वारा कोरोना वायरस से सम्बंधित समस्त प्रोटोकॉल का पालन करने एवं मरीज से मिलने वाले परिजनों, मित्र एवं बच्चों को प्रतिबंधित करने की सलाह दी गयी है। ऑनलाइन सेवा प्रदाता कम्पनियों में होम डिलेवरी का कार्य करने वाले पुरुषों और महिलाओं के लिए विशेष सुरक्षात्मक उपाय अपनाएं जावे। नोटों एवं पत्रावलियों के पृष्ठ पलटने के लिए पानी के स्पंज का उपयोग करने तथा इसे दैनिक रूप से विसंक्रमित किया जाए। उन्होंने सभी निजी क्षेत्र के कार्यालय/चिकित्सालयों में बायोमेट्रिक्स उपस्थिति बन्द करने की सलाह दी है।

---000---