15-05-2020 Friday

प्रवासी भारतीयों को विदेश से लाकर जैसलमेर में किया जाएगा क्चारेंटाईन

15 May, 2020
प्रवासी भारतीयों को विदेश से लाकर जैसलमेर में किया जाएगा क्चारेंटाईन

प्रवासी भारतीयों को विदेश से लाकर जैसलमेर में किया जाएगा क्चारेंटाईन,

जिला कलक्टर ने क्वारेंटाईन सेंटर बनाई गई होटलों के प्रबन्धकों से की चर्चा, दिए निर्देश

जैसलमेर, 15 मई/विदेश से भारत लाए जा रहे प्रवासी भारतीयों को जैसलमेर में क्वारेंटाईन सेंटर के रूप में चिह्नित होटलों में ठहराने से लेकर निर्धारित अवधि तक क्वारेंटाईन किए जाने तथा इनसे संबंधित सभी जरूरी व्यवस्थाएं किए जाने को लेकर जिला कलक्टर नमित मेहता ने शुक्रवार को इन होटल संचालकों, प्रबन्धकों एवं क्वारेंटाईन प्रबन्धों से जुड़े हुए अधिकारियों की बैठक ली और आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

बैठक में नगर विकास न्यास के सचिव अनुराग भार्गव, मुख्य कार्यकारी अधिकारी ओमप्रकाश, उपखण्ड अधिकारी दिनेश विश्नोई, सहायक निदेशक (लोक सेवाएँ) भारतभूषण गोयल, नगर परिषद आयुक्त बृजेश राय एवं सचिव जब्बरसिंह, मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी सत्येन्द्रकुमार व्यास, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.के. बारूपाल, प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ. बी.एल. बुनकर, जिला खेल अधिकारी राकेश विश्नोई आदि अधिकारी तथा क्वारेंटाईन सेंटर के रूप में घोषित होटलों के प्रबन्धक एवं कार्मिक उपस्थित थे।

जिला कलक्टर ने बताया कि विदेश से प्रवासी भारतीयों को जैसलमेर लाकर चिह्नित होटलों में क्वारेंटाईन किया जाएगा। आगामी 22 मई से पहले इन प्रवासी भारतीयों को विमान से जैसलमेर लाया जाएगा। आरंभिक दौर में 400 से अधिक प्रवासी भारतीयों को सऊदी अरब से यहां लाए जाने की जानकारी मिली है।

जिला कलक्टर ने इन प्रवासी भारतीयों को क्वारेंटाईन काल में अच्छी तरह आवासादि व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने तथा इनके लिए आतिथ्य सत्कार की भावना से निर्धारित सुविधाएं उपलब्ध कराने तथा होटल प्रबन्धन द्वारा की जाने वाली सुविधाओं तथा कार्यों पर विस्तार से चर्चा कर उन्हें समझाईश की । यह भी बताया गया कि इन सेंटर्स पर प्रशासन की ओर से भी अधिकारी एवं कार्मिक लगाए जाएंगे।

जिला कलक्टर ने निर्देश दिए कि क्वारेंटाईन सेंटर्स में प्रवासी भारतीयों की सुरक्षा का पूरा-पूरा ध्यान रखा जाए तथा उन्हें क्वारेंटाईन अवधि में उपयुक्त आवास के लिए जरूरी आवश्यक निर्धारित सुविधाएं मुहैया कराने में कहीं कोई समस्या सामने न आए। इसके लिए सावधानीपूर्वक सभी महत्वपूर्ण विषयों का ध्यान रखा जाए। जिला कलक्टर ने प्रवासी भारतीयों के लिए क्वारेंटाईन हेतु जारी एसओपी व गाइर्ड लाईन की भी जानकारी सभी होटल प्रबन्धकों को दी और कहा कि इसका पूरी तरह पालन किया जाए।

जिला कलक्टर ने इन प्रवासी भारतीयों के आगमन से पूर्व सभी व्यवस्थाएं शीघ्र सुनिश्चित करने के निर्देश दिए और होटल सैनेटाईजेशन, सैनेटाईजेशन हैण्डवाश तथा स्प्रे गतिविधियों के बारे में बताया और कहा कि मॉस्क, सोशल डिस्टेंसिंग आदि सभी सुरक्षा मानकों का पूरा-पूरा पालन सुनिश्चित किया जाना चाहिए।

जिला कलक्टर ने होटल प्रबन्धकों से चर्चा करते हुए उन्हें क्वारेंटाईन गतिविधियों से संबंधित आदेशों और निर्देशों तथा करणीय कार्यों के बारे में बिन्दुवार जानकारी दी और उनकी जिज्ञासाओं का समाधान किया।

क्वारेंटाईन सेंटर के प्रभारी, नगर विकास न्यास के सचिव अनुराग भार्गव एवं अन्य अधिकारियों ने इस संबंध में अब तक की तैयारियों पर विस्तार से जानकारी दी। बैठक में जानकारी दी गई कि प्रवासी भारतीयों को जैसलमेर लाने के उपरान्त 14 दिन तक क्वारेंटाईन रखने के लिए सुरक्षित एवं सुविधाजनक स्थलों पर 20 होटलों का क्वारेंटाईन सेंटर के लिए चयन किया गया है।

---000---

जैसलमेर - 223 जांच रिपोर्ट प्राप्त,

इनमें से 206 नेगेटिव, पोकरण में 2 मिले पोजिटीव

जैसलमेर, 15 मई/ जैसलमेर जिले से बुधवार को कोरोना जांच के लिए भिजवाए गए सेंपल्स में कुल 223 की रिपोर्ट शुक्रवार को प्राप्त हो गई है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी. के. बारूपाल ने बताया कि प्राप्त 223 जांच रिपोर्ट के अनुसार कुल  206 जनों की रिपोर्ट नेगेटिव आ गई है जबकि पोकरण के दो जनों की रिपोर्ट पोजिटीव आयी है। पन्द्रह सेंपल की जांच रिपोर्ट आनी शेष है।

उन्होंने बताया कि परसों लिए गए जैसलमेर के 126 सेंपल्स की रिपोर्ट आ चुकी है। इनमें 116 की रिपोर्ट नेगेटिव आ गई है। इनमें वे लोग भी शामिल हैं जो कि जैसलमेर शहर, भादासर एवं खींया में पाए गए  कोरोना संक्रमित (पोजिटीव) व्यक्तियों के रिश्तेदार हैं। जबकि जैसलमेर क्षेत्र के 10 जनों की रिपोर्ट आनी शेष है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि पोकरण क्षेत्र से लेकर भिजवाए गए 97 सेम्पल्स में 92 की रिपोर्ट आ चुकी है।  इनमें 2 व्यक्तियों की रिपोर्ट पोजिटीव आयी है जबकि 90 की रिपोर्ट नेगेटिव आ गई है और 5 जनों की रिपोर्ट आनी शेष है।

---000---

जैसलमेर - मोतीसर हाई रिस्क जोन को किया प्रतिषिद्ध क्षेत्र (प्रोहिबिटेड एरिया) घोषित,

जिला मजिस्ट्रेट नमित मेहता ने जारी किए आदेश

जैसलमेर, 15 मई/जिला कलक्टर एवं जिला आपदा प्रबन्धन प्राधिकरण के अध्यक्ष नमित मेहता ने एक आदेश जारी कर आपदा प्रबन्धन अधिनियम 2005 की धारा 30 व 34 तथा राजस्थान एपीडेमिक डिजीज एक्ट 1957 की धारा 2 के तहत जिला जैसलमेर के ग्राम मोतीसर (ग्राम पंचायत लूणाकला) जिसमें मोतीसर कस्बा भी शामिल है, के क्षेत्र को हाई रिस्क जोन होने से प्रतिषिद्ध क्षेत्र घोषित कर दिया है।

आदेश में कहा गया है कि इस क्षेत्र में समस्त निवासी आवश्यक रूप से अपने घर पर ही रहेंगे व किसी भी प्रकार का गैर अनुमत कारण से बाहर विचरण नहीं करेगें। कोई भी व्यक्ति बिना उपखण्ड अधिकारी की अनुमति के ना तो बाहर से इस क्षेत्र में आ सकेगा व ना ही इस क्षेत्र से बाहर जा सकेगा। केवल चिकित्साकर्मी, पुलिसकर्मी, एम्बुलेंस व अन्य व्यक्ति जो राज्यादेश की पालना में वहां जाने के लिए अनुमत हैं, के अतिरिक्त किसी भी व्यक्ति के आवागमन पर पूर्ण पाबंदी रहेगी।

गृह विभाग के आदेश के तहत अनुमत गतिविधियांं विशेष परिस्थितियों में बाद अनुमति ही संचालित की जा सकेगी। ऎसी अनुमति केवल अपरिहार्य होने पर ही दी जा सकेगी। पुलिस अधीक्षक, जैसलमेर हाई रिस्क प्रतिषिद्ध क्षेत्र में उक्तानुसार शांति व कानून व्यवस्था बनाए रखने की कार्यवाही करेंगे। उपखण्ड अधिकारी जैसलमेर समस्त प्रतिषिद्ध क्षेत्र की मेडिकल स्क्रीनिंग, आवश्यक वस्तु आपूर्ति, क्वारेन्टाइन के पर्यवेक्षण के साथ प्रतिषिद्ध क्षेत्र में आवश्यक व्यवस्था बनाए रखना सुनिश्चित करेंगे। इन क्षेत्रों के अतिरिक्त अन्यत्र क्षेत्र में पूर्व में जारी आदेश प्रवृत रहेंगे।

---000---Read More