13-03-2020

भारतीय मूल के 44 यात्रियों को रखा जाएगा जैसलमेर में, आरंभिक टेस्ट में कोई नहीं पाया गया कोरोना संक्रमित, मिलिट्री स्टेशन के आइसोलेशन कम वेलनेस सेंटर में रहेंगे डॉक्टरों की निगरानी में, जिला प्रशासन ने कहा - घबराने की कोई जरूरत नहीं

जैसलमेर, 13 मार्च/प्राप्त जानकारी के अनुसार ईरान में फैले कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए भारतीय मूल के लोगों को सुरक्षित स्वदेश लाने को लेकर भारत सरकार द्वारा की जा रही कार्यवाही के अन्तर्गत 44 भारतीयों को शुक्रवार को वायुयान से जैसलमेर लाया जा रहा है।

इन सभी भारतीय नागरिकों की स्क्रीनिंग और टैस्ट में किसी में भी वायरस का संक्रमण नहीं पाया गया है किन्तु ऎहतियात के तौर पर सामान्य चिकित्सकीय प्रक्रिया के अन्तर्गत कुछ दिन इन्हें मिलिट्री स्टेशन जैसलमेर में स्थित आईसोलेशन कम वेलनेस सेंटर में रखा जाएगा और चिकित्सकीय निगरानी प्रक्रिया के उपरान्त इन्हें अपने घरों के लिए रवाना कर दिया जाएगा।

जिला कलक्टर नमित मेहता ने बताया कि जिला प्रशासन इस बारे में लगातार मिलिट्री अधिकारियों के सम्पर्क में है और मिलिट्री के साथ पूर्ण समन्वय बनाए रखते हुए इससे संबंधित सभी प्रकार का वांछित सहयोग दिया जा रहा है।

जिला कलक्टर ने कहा है कि यह आइसोलेशन कम वेलनेस सेंटर शहर से दूर मिलिट्री स्टेशन में स्थापित है जहाँ सामान्य प्रक्रिया के तहत इन भारतीय नागरिकों को मात्र ऎहतियात के तौर पर रखा जाएगा, इसलिए किसी को भी घबराने की जरूरत नहीं है, यह कोरोना वायरस संक्रमण रोकने के लिए अपनायी जाने वाली एक सामान्य चिकित्सकीय प्रक्रिया का हिस्सा है।

---000---