11-05-2020 Monday

जिला कलक्टर ने ली समीक्षा बैठक,

11 May, 2020
जिला कलक्टर ने ली समीक्षा बैठक,

जिला कलक्टर ने ली समीक्षा बैठक,

लॉकडाउन के मद्देनज़र ताजातरीन आदेशों और निर्देशों से अधिकारियों को कराया अवगत,

हर व्यवस्था हो माकूल, हर क्षेत्र में रहें मुस्तैद - नमित मेहता

जैसलमेर, 11 मई/जिला कलक्टर नमित मेहता ने सोमवार को जैसलमेर जिला कलक्ट्री सभा कक्ष में प्रमुख अधिकारियों की बैठक ली और सरकार द्वारा जारी नवीनतम आदेशों और निर्देशों के बारे में अवगत कराते हुए इनकी पूरी-पूरी पालना किए जाने के निर्देश दिए।

बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर ओ.पी. विश्नोई, मुख्य कार्यकारी अधिकारी ओमप्रकाश, उपखण्ड अधिकारी दिनेश विश्नोई, उप निवेशन उपायुक्त देवाराम सुथार, तहसीलदार विकास भाटी, नगर परिषद के आयुक्त बृजेश राय, मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी सत्येन्द्र कुमार व्यास, जिला रसद अधिकारी भागुराम महला, सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभागीय संयुक्त निदेशक आशुतोष गौतम, जिला खेल अधिकारी राकेश विश्नोई, औषधि नियंत्रक राजेश मीणा आदि उपस्थित थे। 

जिला कलक्टर नमित मेहता ने कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जिले में संचालित गतिविधियों, लॉकडाउन के नवीनतम निर्देशों के अनुरूप कार्यवाही संपादन, जिले में लॉक डाउन की पालना, आगामी दिनों में प्रवासी लोगों के जैसलमेर आगमन से संबंधित गतिविधियों की रूपरेखा, सरकार द्वारा जारी नई गाइडलाईन, ग्रामीण क्षेत्रों में फूड़ पैकेट्स वितरण आदि पर विस्तार से चर्चा की और जरूरी दिशा-निर्देश दिए।

जैसलमेर एवं पोकरण में कोविड केयर सेंटर की तैयारियां 

जिला कलक्टर ने जैसलमेर में 500 शैयाओं तथा पोकरण में 200 शैयाओं के कोविड केयर सेंटर स्थापित करने के लिए होटलों को चिह्नित करने का काम शाम तक पूर्ण कर लिए जाने के निर्देश देते हुए सभी संबंधित अधिकारियों से कहा कि वे इनसे संबंधित सभी प्रकार की तैयारियां समय पर पूर्ण करें। विभिन्न अधिकारियों ने जिले की सम सामयिक गतिविधियों के बारे में जिला कलक्टर को फीडबेक दिया।

जिला कलक्टर ने जैसलमेर जिले में कोविड 19 से संबंधित गतिविधियों के बेहतर निर्वहन के लिए सभी अधिकारियों की सराहना की और आगे भी इसी टीम भावना से कार्य करते हुए जिले को सभी प्रकार की चुनौतियों से मुक्त करने के लिए समर्पित भूमिका निर्वाह करने का आह्वान किया।

---000---

जैसलमेर जिले का फलसूण्ड हाईरिस्क जोन होने से प्रतिषिद्ध क्षेत्र घोषित,

जिला मजिस्ट्रेट नमित मेहता ने जारी किया आदेश,

आवागमन व विचरण पर लगाई पाबंदी

जैसलमेर, 11 मई/ जिला मजिस्ट्रेट (कलक्टर) नमित मेहता ने एक आदेश जारी कर आपदा प्रबन्धन अधिनियम 2005 की धारा 30 व 34 तथा राजस्थान एपीडेमिक डिजीज एक्ट 1957 की धारा 2 के तहत फलसूंड राजस्व ग्राम (जिसमें फलसूंड कस्बा भी शामिल है) के क्षेत्र को हाईरिस्क जोन होने से प्रतिषिद्ध क्षेत्र (प्रोहिबिटेड एरिया) घोषित  कर दिया है। 

आदेश में कहा गया कि प्रतिषिद्ध क्षेत्र फलसूण्ड में इस क्षेत्र में समस्त निवासी आवश्यक रूप से अपने घर पर ही रहेंगे व किसी भी प्रकार के गैर अनुमत कारण से बाहर विचरण नहीं करेंगे। कोई  भी व्यक्ति उपखण्ड अधिकारी की अनुमति के बिना ना तो बाहर से इस क्षेत्र में आ सकेगा व ना ही इस क्षेत्र से बाहर जा सकेगा। केवल चिकित्साकर्मी, पुलिसकर्मी, एम्बुलेंस व अन्य व्यक्ति (जो राज्यादेश की पालना में वहां जाने के लिए अनुमत हैं) के अतिरिक्त किसी भी व्यक्ति के आवागमन पर पूर्ण पाबंदी रहेगी।

आदेश में स्पष्ट किया गया है कि  विशेष परिस्थितियों में राजस्थान सरकार के गृह विभाग द्वारा 2 मई को जारी आदेश के तहत अनुमत गतिविधियां अनुमति प्राप्त कर संचालित की जा सकेंगी। ऎसी अनुमति केवल अपरिहार्य होने पर ही दी जा सकेगी। 

आदेश में कहा गया है कि पुलिस अधीक्षक, जैसलमेर द्वारा हाई रिस्क प्रतिषिद्ध क्षेत्र में शांति व कानून व्यवस्था बनाए रखने की कार्यवाही संपादित की जाएगी। उपखण्ड अधिकारी भणियाणा को आदेशित किया गया है कि समस्त प्रतिषिद्ध क्षेत्र की मेडिकल स्क्रीनिंग, आवश्यक वस्तु आपूर्ति, क्वारेन्टाइन के पर्यवेक्षण के साथ प्रतिषिद्ध क्षेत्र में आवश्यक व्यवस्था बनाए रखना सुनिश्चित करेंगे। इस क्षेत्र के अलावा जिले के अन्य क्षेत्रों में पहले से जारी आदेश लागू रहेंगे।

जिला कलक्टर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, जैसलमेर को निर्देश दिए हैं कि फलसूण्ड से संबंधित कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग कर सेंपल लेने के साथ-साथ थर्मल स्केनिंग से डोर-टू-डोर मेडिकल स्क्रीनिंग किए जाने की कार्यवाही सुनिश्चित करें।

---000---Read More