10-05-2020 Sunday

मुख्यमंत्री की वीसी में केबिनेट मंत्री शाले मोहम्मद एवं विधायक रूपाराम ने दिए महत्वपूर्ण सुझाव

10 May, 2020
मुख्यमंत्री की वीसी में केबिनेट मंत्री शाले मोहम्मद एवं विधायक रूपाराम ने दिए महत्वपूर्ण सुझाव

मुख्यमंत्री की वीसी में केबिनेट मंत्री शाले मोहम्मद एवं विधायक रूपाराम ने दिए महत्वपूर्ण सुझाव,

सीएम ने सुझावों को गंभीरता से लेते हुए सार्थक कार्यवाही का आश्वासन दिया

जैसलमेर, 10 मई/मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत द्वारा रविवार को सीएमआर से वीसी लेकर केन्द्रीय मंत्रियों, राजस्थान के मंत्रीगण, सांसदों एवं प्रदेश भर के विधायकों के साथ चर्चा की गई और कोरोना महामारी से बचाव व रोकथाम के उपायों, लॉक डाउन की स्थितियों, प्रवासियों के आगमन, टिड्डी नियंत्रण, समर्थन मूल्य पर फसल खाद्यान्न खरीद आदि विभिन्न विषयों पर संवाद कायम किया गया।

इस दौरान जैसलमेर के सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभागीय वीसी रूम से अल्पसंख्यक मामलात, वक्फ एवं जन अभियोग निराकरण मंत्री शाले मोहम्मद एवं जैसलमेर विधायक रूपाराम ने हिस्सा लेकर मुख्यमंत्री से चर्चा की।

दोनों जन प्रतिनिधियों ने जैसलमेर जिले में कोरोना नियंत्रण, टिड्डी नियंत्रण के लिए वाहनों और संसाधनों में पर्याप्त बढ़ोतरी करते हुए सीमावर्ती क्षेत्रों में ही टिड्डियों पर नियंत्रण के सभी संभव उपाय सुनिश्चित करने,  प्रवासियों को बाहर से लाने की व्यवस्था को और अधिक सरल बनाने, महानरेगा, स्वीकृतियों के सरलीकरण आदि पर प्रभावी कार्यवाही का आग्रह किया। मुख्यमंत्री ने केबिनेट मंत्री शाले मोहम्मद एवं विधायक रूपाराम द्वारा दिए गए सुझावों को गंभीरता से लेकर कार्यवाही करने का आश्वासन दिया।

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि प्राथमिकता के अनुसार श्रमिकों की सूचना तैयार कर भिजवाएं ताकि प्रवासी श्रमिकों को अपने मूल जिलों में लाने की कार्यवाही को सुव्यवस्थित तरीके से संपादित किया जा सके।

मुख्यमंत्री ने जैसलमेर-बाड़मेर जिले के प्रभारी मंत्री ऊर्जा एवं जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री डॉ. बी.डी. कल्ला से भी वीसी से चर्चा कर फीडबेक लिया। प्रभारी मंत्री ने मुख्यमंत्री को अवगत कराया कि दो दिन पूर्व ही दोनों जिलों के अधिकारियों से वीडियो कांफ्रेंसिंग से चर्चा कर ली गई है और आवश्यक दिशा-निर्देश दिए जा चुके हैं। उन्होंने ग्रीष्मकाल में पेयजल प्रबन्धन को मजबूती देने के लिए किए गए प्रयासों की जानकारी दी।

अल्पसंख्यक मामलात, वक्फ एवं जन अभियोग निराकरण मंत्री शाले मोहम्मद ने मुख्यमंत्री को जैसलमेर जिले की सम सामयिक स्थितियों से अवगत कराया और बाहर के राज्यों मेंं फंसे हुए प्रवासी श्रमिकों को जैसलमेर लाए जाने के सरल संभव प्रयास करने,  आम सभा और ग्राम सभा आयोजन नहीं हो पाने की स्थिति में राज्य सरकार के स्तर पर निर्णय लेकर जिलों में कार्य स्वीकृत कर अधिक से अधिक लोगों को रोजगार मुहैया कराने की व्यवस्था करने आदि महत्वपूर्ण सुझाव दिए। इन पर मुख्यमंत्री ने कारगर कार्यवाही का आश्वासन दिया।

विधायक रूपाराम ने मुख्यमंत्री को जैसलमेर जिले में कोरोना महामारी से बचाव व रोकथाम के उपायों तथा वर्तमान हालातों से निपटने में प्रशासन और जन प्रतिनिधियों की समन्वित भागीदारी से बेहतर प्रयासों की जानकारी दी और कहा कि मुख्यमंत्री एवं सरकार के निर्देशों के अनुरूप जिले में अच्छी कार्यवाही का ही परिणाम है कि जिला अब ग्रीन जोन में आने की दिशा में आगे बढ़ रहा है।

उन्होंने जैसलमेर मूल के बाहर रह रहे प्रवासियों के जैसलमेर पहुंचने के लिए वाहनों के पास जारी करने की प्रक्रिया को सरलीकृत करने, अधिकाधिक श्रमिकों को महानरेगा में नियोजित करने के लिए एक जोब कार्ड पर दो जनों को मौका दिए जाने, लॉक डाउन के मानदण्ड निर्धारण में जनसंख्या घनत्व के अनुरूप कार्यवाही करने, 20-21 की कार्ययोजना में औपचारिक प्रक्रिया में शिथिलता देते हुए सड़क व ग्रामीण विकास के कार्य जल्द से जल्द आरंभ करने आदि के सुझाव दिए।

मुख्यमंत्री की वीडियो कांफ्रेंस के दौरान जैसलमेर वीसी कक्ष में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.के. बारूपाल, तहसीलदार विकास भाटी, संयुक्त निदेशक आशुतोष गौतम आदि अधिकारी उपस्थित थे।

---000---

जिला रसद अधिकारी एवं टीम द्वारा दुकानों का औचक निरीक्षण अभियान जारी,

रविवार को रामगढ़ एवं आस-पास के ग्रामीण क्षेत्रों में हुई जाँच की कार्यवाही,

सभी जगह उचित भावों में आवश्यक सामग्री का सुचारू विक्रय पाया गया

जैसलमेर 10 मई/जैसलमेर जिले में लॉकडाउन की आड़ में काला बाजारी, जमाखोरी जैसी गतिविधियों पर जिला प्रशासन की पैनी नज़र लगातार बनी हुई है और इसी का परिणाम है कि पिछले कई दिनों से अभियान के तौर पर किए जा रहे निरीक्षणों के दौरान कहीं से भी कालाबाजारी एवं जमाखोरी का कोई मामला सामने नहीं आया है और सामान्य दिनों की ही तरह के भावों में आवश्यक सामग्री गांवों में उपलब्ध है।

शहरों और गांवों में विभिन्न प्रकार की दुकानों के व्यापक निरीक्षण अभियान के अन्तर्गत रविवार को जिला रसद अधिकारी भागुराम महला और प्रवर्तन निरीक्षक सवाईराम ने टीम के साथ जिले के विभिन्न ग्रामीण क्षेत्रों का दौरा कर उचित मूल्य दुकानों, किराणा दुकानों, आटा चक्कियों एवं मेडिकल दुकानों का आकस्मिक निरीक्षण किया। रसद विभागीय टीम ने रविवार को रामगढ़ कस्बे एवं आस-पास के गांव मोकला, सोनू, बांधा, 40 आरडी, जोगा, खुईयाला आदि कई गांवों का भ्रमण कर गांवों में स्थित आवश्यक वस्तुओं की दुकानों का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान कालाबाजारी एवं जमाखोरी का कोई मामला सामने नहीं आया। निरीक्षण में साफ तौर पर सामने आया कि गांवों में सामान्य दिनों की तरह ही उचित मूल्य पर आवश्यक सामग्री पर्याप्त मात्रा में  उपलब्ध है।

जिला रसद अधिकारी भागुराम महला ने ग्राम्यांचलों के दौरे से लौटकर रविवार शाम बताया कि निरीक्षण के दौरान स्थानीय लोगों के सहयोग से आवश्यक सामग्री की विभिन्न दुकानों पर बोगस ग्राहक भेजकर वास्तविक भावों की जाँच एवं सत्यापन किया गया जिसमें कोई अनियमितता का मामला सामने नहीं आने से किसी के खिलाफ कार्यवाही की आवश्यकता नहीं पड़ी।

उन्होंने जानकारी दी कि जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में जिला रसद कार्यालय के प्रवर्तन निरीक्षक द्वारा समय-समय पर जाकर किराणा दुकानों, आटा चक्कियों, उचित मूल्य दुकानों, मेडिकल दुकानों एवं अन्य आवश्यक सामगर््री से संबंधित दुकानों, गोदामों का निरीक्षण नियमित रूप से अभियान के तौर पर किया जा रहा है।

जिला रसद अधिकारी ने बताया कि  रविवार को रसद विभाग की टीम द्वारा रामगढ़ एवं आस-पास के जिन गांवों की किराणा दुकानों, मेडिकल स्टोर्स आदि की जांच के साथ ही स्थानीय बाजारों का निरीक्षण किया गया जहाँ सामने आया कि स्थानीय लोगों को आवश्यक खाद्य सामग्री की सहज सुलभ उपलब्धता है।

निरीक्षण के दौरान जिला रसद अधिकारी एवं प्रवर्तन निरीक्षक ने सभी दुकानदारों को मॉस्क, सेनेटाइजर एवं ग्लब्स का उपयोग करने के साथ-साथ सामाजिक दूरी बनाए रखने एवं दुकान पर भावों की रेट लिस्ट लगाने के निर्देश दिए। दुकानदारों को यह भी निर्देशित किया गया कि अगर कोई उपभोक्ता मास्क का उपयोग नहीं करता है तो उसे सामान देने से भी स्पष्ट मना करें।

---000---

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राकेश बैरवा ने नोख में होम क्वारेंटाईन लोगों का निरीक्षण किया

जैसलमेर, 10 मई/जैसलमेर जिले में कोरोना संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के ऎहतियाती उपायों के अन्तर्गत होम क्वारेंटाईन किए गए लोगों के बारे में अधिकारियों एवं कार्मिकों द्वारा शहरों और गांवों में निरीक्षण का दौर रविवार को भी जारी रहा।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राकेश बैरवा ने रविवार को जिले के विभिन्न क्षेत्रों का दौरा किया और लॉक डाउन की स्थितियों की जानकारी लेने के साथ ही होम क्वारेंटाईन किए गए लोगों के घरों पर पहुंचकर जानकारी ली और पाबंद किया कि निर्धारित अवधि पर घर में ही रहें, बाहर नहीं निकलें।

---000---Read More