09-05-2020 Saturday

जिला कलक्टर ने एसपी एवं अन्य अधिकारियों के साथ किया सीमावर्ती चैक पोस्ट्स का निरीक्षण

9 May, 2020
जिला कलक्टर ने एसपी एवं अन्य अधिकारियों के साथ किया सीमावर्ती चैक पोस्ट्स का निरीक्षण

जिला कलक्टर ने एसपी एवं अन्य अधिकारियों के साथ किया सीमावर्ती चैक पोस्ट्स का निरीक्षण,

वैध अनुमति के बिना जैसलमेर जिले की सीमा में नहीं कर पाए कोई प्रवेश,

सभी प्रवासियों का पूरा-पूरा रिकार्ड संधारण कर उसके अनुरूप कार्यवाही की जाए

जैसलमेर, 9 मई/जिला कलक्टर नमित मेहता ने जिला पुलिस अधीक्षक डॉ. किरण कंग सिद्धू एवं अन्य प्रशासनिक अधिकारियों के साथ शनिवार को जैसलमेर जिले के विभिन्न क्षेत्रों का दौरा किया और कोरोना महामारी से बचाव एवं रोकथाम की दृष्टि से किए जा रहे चौतरफा प्रयासों के साथ ही धारा 144 एवं लॉकडाउन की अनुपालना का भी जायजा लिया।

दोनों अधिकारियों ने विभिन्न क्षेत्रों में भीषण गर्मी के दौर में चैक पोस्ट्स तथा अन्य स्थलों पर ड्यूटी दे रहे कार्मिकों की सराहना की और उनकी हौसला अफजाई की।

रिकार्ड का अवलोकन, दिए निर्देश

जिला कलक्टर एवं एसपी ने जिले में स्थापित विभिन्न चैक पोस्टों पर पहुंचकर वहाँ की निगरानी व्यवस्थाओं तथा प्रवेश करने वालों से संबंधित पंजिकाओं, प्रपत्रों तथा दस्तावेजों के निरीक्षण के साथ ही मेडिकल स्क्रीनिंग, उपयुक्त सेनेटाईजेशन आदि गतिविधियों के बारे में जानकारी ली और रिकार्ड संधारण कार्य का अवलोकन किया।

एसपी ने लिया फीडबेक

जिला कलक्टर ने चैक पोस्ट पर कार्यरत कार्मिकों से चर्चा की और सभी व्यवस्थाओं को नियमानुसार संचालित करते रहने के निर्देश दिए। जिला पुलिस अधीक्षक ने चैक पोस्ट व विभिन्न स्थलों पर तैनात पुलिसकर्मियों से क्षेत्रीय हलचलों के बारे में फीडबेक लिया।

लवां एवं रामदेवरा चैक पोस्ट का निरीक्षण

जिला कलक्टर एवं जिला पुलिस अधीक्षक ने लवां तथा रामदेवरा चैक पोस्ट का आकस्मिक निरीक्षण करते हुए वहां की गतिविधियों के बारे में विस्तार से जानकारी दी और चैक पोस्ट पर लगाए गए कार्मिकों को उनसे संबंधित कार्यों के बारे में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

निर्देशों की कड़ाई से पालना सुनिश्चित करें

जिला कलक्टर एवं एसपी ने चैक पोस्ट पर निर्धारित निर्देशों एवं नियमों की कड़ाई से पालना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। इस दौरान पोकरण के उपखण्ड अधिकारी अजय, पुलिस उपाधीक्षक मोटाराम, तहसीलदार राजेश विश्नोई, संबंधित एसएचओ एवं अन्य अधिकारी उनके साथ थे।  इन अधिकारियों ने चैक पोस्ट व क्षेत्र में लॉक डाउन तथा कफ्र्यू एवं धारा 144 की पालना तथा इससे संबंधित कार्यवाही के बारे में जानकारी दी।

मेडिकल स्क्रीनिंग कराएं

जिला कलक्टर ने दोनों ही चैक पोस्ट्स पर की जा रही कार्यवाही के बारे में कार्मिकों से पूरी जानकारी ली और कहा कि जैसलमेर सीमा में प्रवेश करने वाले हर व्यक्ति की उपयुक्त एवं निर्धारित ढंग से थर्मल स्कैनर से मेडिकल चैंकिंग के साथ ही मोबाइल नम्बर सहित पूर्ण विवरण अंकित किया जाना चाहिए। उन सभी को सम्पूर्ण विवरण के साथ पृथक-पृथक सूचीबद्ध किया जाना चाहिए जो कि अन्तर जिला प्रवासी हैं या अन्तरराज्यीय क्षेत्र से आ रहे हैं। इन सभी के मोबाइल में अनिवार्य रूप से एप डाउनलोड कराकर बाद में भी इनकी उपयुक्त मोनिटरिंग में कहीं कोई कमी नहीं छोड़ी जाए।

इनमें यदि आईएलआई के लक्षण दिखें तो उन्हें वहीं रोक कर सम्पूर्ण मेडिकल चैकअप कराया जाए।  उन्हीं लोगों को प्रवेश दिया जाए जिनके पास वैध अनुमति है। इसके बिना किसी भी व्यक्ति को जैसलमेर की सीमा में प्रवेश नहीं करने दिया जाए। प्रवेश करने वालों को होम क्वारेंटाईन में रखे रहने के बारे में सारे निर्देशों की पूरी-पूरी पालना करने की हिदायत दी जाए और इनका पूरा डेटा रखा जाए।

जिला कलक्टर ने स्थानीय प्रशासन द्वारा लवां एवं रामदेवरा चैक पोस्ट पर छाया-पानी की बेहतर व्यवस्था के लिए सराहना की।

---000---

जिला कलक्टर एवं एसपी ने पोकरण में ली प्रशासन और पुलिस अधिकारियों की बैठक,

आगामी रणनीति पर किया व्यापक मंथन,

सामूहिक प्रयासों और समर्पित दायित्वों से पाएं चुनौतियों पर विजय - नमित मेहता

चौतरफा कड़ी निगरानी में कहीं कोई कमी नहीं आने दें - डॉ. किरण कंग सिद्धू

जैसलमेर, 9 मई/कोरोना महामारी से बचाव एवं रोकथाम के लिए जिले में अब तक किए प्रयासों पर संतोष जताते हुए जिला कलक्टर नमित मेहता ने प्रशासन और पुलिस तथा सभी संबंधित विभागों के अधिकारियों से कहा है कि इसी तरह की मुस्तैदी बनाए रखें।

उन्होंने कहा कि आने वाले 10-12 दिन और अधिक कठिनाई भरे व चुनौती पूर्ण हैं जिनसे निपटने के लिए सभी को मिलजुलकर पूर्ण समर्पित होकर टीम भावना से काम करने की आवश्यकता है।

जिला कलक्टर नमित मेहता ने शनिवार को पोकरण के उपखण्ड अधिकारी कार्यालय में अधिकारियों की बैठक में यह आह्वान किया। इसमें प्रशासन और पुलिस के साथ ही विभिन्न विभागों के अधिकारी भी उपस्थित थे। जिला कलक्टर ने पोकरण में 35 में से 34 जनों के पोजिटीव से नेगेटिव आ जाने पर प्रसन्नता जाहिर की और कहा कि मात्र एक व्यक्ति जोधपुर में उपचाररत है और उसके भी नेगेटिव होकर लौटने की उम्मीद है।

अब तक के प्रयासों पर जताया संतोष

जिला कलक्टर ने कोरोना महामारी से बचाव एवं रोकथाम के लिए जैसलमेर जिले में अब तक हुए बहुआयामी प्रयासों पर संतोष जताया और कहा कि इसी टीम स्पिरिट को आने वाले दिनों में जारी रखे रखना है ताकि इस जंग का हम आसानी से मुकाबला कर जैसलमेर को महामारी से मुक्त रखने में कामयाब हो सकें।

जिला कलक्टर ने बाहर से आए प्रवासियों तथा ग्रामीणों की सेंपलिंग तथा रेण्डम सेंपलिंग पर जोर दिया और कहा कि उन लोगों की भी गहनता से तलाश कर सूचीबद्ध किया जाए जो कि चुपचाप किसी रास्ते से जिले की सीमा में घुस आए हों। ऎसे लोगों को पहचान कर उनकी भी रेण्डम सेंपलिंग की जाए और इन्हें होम क्वारेंटाईन किया जाए। इन लोगों को भी एप से जोड़ा जाना है।

एसपी ने दिए सख्ती बरतने के निर्देश

जिला पुलिस अधीक्षक डॉ. किरण कंग सिद्धू ने कोराना महामारी से बचाव एवं रोकथाम के लिए लॉक डाउन और कफ्र्यू तथा धारा 144 के अन्तर्गत अब तक की गई कार्यवाही के बारे मेंं चर्चा की और निर्देश दिए कि सभी प्रावधानों की सख्ती से पालना सुनिश्चित की जाए।

बैठक में पोकरण के उपखण्ड अधिकारी अजय, पुलिस उपाधीक्षक मोटाराम, तहसीलदार राजेश विश्नोई एवं अन्य अधिकारियों ने पोकरण की स्थिति पर विस्तार से जानकारी दी।

---000---

जैसलमेर जिले में लॉक डाउन के दौरान कालाबाजारी एवं जमाखोरी का कोई मामला नहीं,

298 दुकानों का आकस्मिक निरीक्षण में भी नहीं पायी गई कालाबाजारी,

रसद विभाग द्वारा निरीक्षणों का दौर लगातार जारी

जैसलमेर 09 मई/जैसलमेर जिले में लॉकडाउन में जिला रसद विभाग द्वारा पिछले कई दिनों से किए जा रहे आकस्मिक निरीक्षणों के बावजूद अब तक कालाबाजारी या जमाखोरी का एक भी मामला सामने नहीं आया है। जिला रसद अधिकारी भागुराम महला ने बताया कि जिले में लॉकडाउन के दौरान अब तक कुल 298 किराणा दुकानों का निरीक्षण किया जा चुका है और इसमें कोई कालाबाजारी एवं जमाखोरी जैसी कोई बात सामने नहीं आयी।

उन्होंने बताया कि राज्य सरकार के निर्देशों की पालना में जिले में स्वयं द्वारा, प्रवर्तन निरीक्षकों एवं खाद्य सुरक्षा अधिकारी द्वारा नियमित रूप किराणा व अन्य आवश्यक सामग्री की दुकानों का निरीक्षणों का दौर निरन्तर बना हुआ है। जिले में अब तक कालाबाजारी एवं जमाखोरी का कोई भी मामला सामने नहीं आया है।

जिला रसद अधिकारी ने बताया कि राज्य सरकार के निर्देश पर रसद विभाग से जिला रसद अधिकारी एवं प्रवर्तन निरीक्षकों तथा खाद्य सुरक्षा अधिकारी द्वारा जिले में औचक निरीक्षणों का दौर लगातार जारी है। निरीक्षणों के दौरान बोगस ग्राहक भेजकर सत्यापन किए जाने पर भी जिले में अनियमितता का एक भी मामला सामने नहीं आया।

उन्होंने बताया कि शनिवार को भी जैसलमेर शहरी क्षेत्र में प्रवर्तन निरीक्षक सवाईराम द्वारा इन्दिरा कॉलोनी, गड़ीसर चौराहा, गांधी कॉलोनी आदि क्षेत्रों में किराणा दुकानों एवं मेडिकल स्टोर का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान बोगस ग्राहक भी भेजे गये। इस दौरान पाया गया कि स्थानीय दुकानदार सही भाव में आवश्यक वस्तुओं का विक्रय कर रहे हैं तथा शहर में कालाबाजारी, जमाखोरी आदि का कोई मामला नहीं है।

ग्रामीण क्षेत्रों में भी कोई मामला नहीं

जिला रसद अधिकारी ने बताया कि जैसलमेर जिले के ग्रामीण क्षेत्र नाचना एवं आस पास के गांवों की किराणा दुकानों, मेडिकल स्टोर एवं अन्य आवश्यक वस्तुओं की दुकानों का निरीक्षण प्रवर्तन निरीक्षक गोविन्ददान देथा द्वारा निरीक्षण के दौरान स्थानीय लोगों की सहायता से बोगस ग्राहक भेजकर वास्तविक भावों की जांच की गई।

जांच के दौरान इस क्षेत्र में कोई कालाबाजारी एवं जमाखोरी के मामले सामने नहीं आए। स्थानीय लोगों को आवश्यक खाद्य सामग्री की सुलभ उपलब्धता है। जांच के दौरान आटा सामन्यतः 25 रुपये से लेकर 28 रुपये प्रति किलो, चीनी 38 रुपये से 40 रुपये प्रति किलो में सहज उपलब्ध होती पायी गई। निरीक्षणों के दौरान प्रवर्तन निरीक्षक देथा ने समस्त किराणा दुकानदारों को रेट लिस्ट लगाने एवं मास्क सैनेटाईजर का उपयोग करने को पाबंद भी किया गया।

कालाबाजारी की शिकायत यहां करें

जिला रसद अधिकारी भागुराम महला ने बताया कि जिले में कहीं भी कालाबाजारी व जमाखोरी होने की शिकायत जिला रसद कार्यालय, जैसलमेर के फोन नम्बर  02992-255241 पर की जा सकती है।

---000---Read More