07-05-2020 Thursday

जिला कलक्टर ने एस पी एवं अन्य अधिकारियों के साथ किया जैसलमेर का पैदल भ्रमण,

जिला कलक्टर ने एस पी एवं अन्य अधिकारियों के साथ किया जैसलमेर का पैदल भ्रमण,

जिला कलक्टर ने एस पी एवं अन्य अधिकारियों के साथ किया जैसलमेर का पैदल भ्रमण,

विभिन्न बस्तियों में होम क्वारेंटाईन किए गए लोगों से की मुलाकात,

होम क्वारेंटाईन के निर्देशों का अक्षरशः पालन करने की हिदायत दी

जैसलमेर,7 मई/जिला कलक्टर नमित मेहता एवं जिला पुलिस अधीक्षक डॉ. किरण कंग सिद्धू ने गुरुवार को चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ जैसलमेर शहर के विभिन्न हिस्सों का पैदल भ्रमण किया और विभिन्न मोहल्लों में बाहर से आए लोगों को होम क्वारेंटाईन किए जाने के बाद की स्थितियों का जायजा लिया।

इस दौरान मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.के. बारूपाल, प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ. बी.एल. बुनकर, उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (परिवार कल्याण) डॉ. रघुनाथप्रसाद गर्ग, खण्ड मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. लालचन्द देवन्दा, शहर कोतवाल किशनसिंह, आयुष चिकित्सक डॉ. गोपाल सोढ़ा, वरिष्ठ अध्यापक संदीप थानवी सहित चिकित्सा एवं पुलिस विभागीय कार्मिक साथ थे।

जिला कलक्टर एवं जिला पुलिस अधीक्षक ने शहर के गोयदानी पाड़ा, केला पाड़ा, भैया पाड़ा व पटवा हवेली के इर्द-गिर्द अवस्थित मोहल्लों में होम क्वारेंटाईन किए गए लोगों से उनके घरों तक पहुंच कर जानकारी ली।

दोनों अधिकारियाेंं ने होम क्वारेंटाईन में रह रहे लोगों से क्वारेन्टाईन के तमाम निर्देशों की पालना के बारे में पूछा तथा कहा कि निर्धारित अवधि तक संयम के साथ घरों के भीतर ही रहकर सोशल डिस्टेंसिंग तथा अन्य प्रावधानों का पूरा-पूरा पालन करें। 

होम क्वारेंटाईन रखे गए लोगों के पड़ोसियों तथा आस-पास के लोगों से भी चर्चा कर वस्तुस्थिति की जानकारी ली गई। जिला कलक्टर ने चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देश दिए कि बाहर से आए जिन लोगों को अपने घरों में क्वारेंटाईन किया हुआ है उनमें से रेण्डम सेंपल लेकर जांच के लिए भिजवाएं तथा इनकी रोजाना मोनिटरिंग सुनिश्चित करें।

जिला कलक्टर ने यह भी निर्देश दिए कि इनमें से जिन-जिन लोगों की रिपोर्ट प्राप्त हो जाए, उन्हें रिपोर्ट के निष्कर्षों से अवगत कराया जाए।

---000---

अल्पसंख्यक मामलात मन्त्री ने मदासर ग्राम सेवा खरीद केन्द्र का किया निरीक्षण,

किसानों से सरसों व चना फसल की समर्थन मूल्य पर खरीद जारी

जैसलमेर, 07 मई/अल्पसंख्यक मामलात,वक्फ एवं जन अभियोग निराकरण मंत्री शाले मोहम्मद ने गुरुवार को मदासर ग्राम सेवा सहकारी समिति खरीद मित्र केन्द्र का औचक निरीक्षण कर वहां पर समर्थन मूल्य पर खरीद की जा रही सरसों व चना फसल के बारे में विस्तार से जानकारी ली। यह खरीफ केन्द्र गुरुवार को केबिनेट मंत्री शाले मोहम्मद की मौजूदगी में आरंभ हुआ।

अल्पसंख्यक मामलात मंत्री ने इस अवसर पर बताया कि नाचना क्षेत्र में भारेवाला और मदासर को खरीद मित्र के केन्द्र के रूप में स्वीकृत किया गया हैं ताकि किसान कोविड-19 के तहत नजदीक के क्षेत्र में खरीद केन्द्र पर समर्थन मूल्य पर विक्रय कर सकें। इसके लिए उन्होंने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की तारीफ की और कहा कि मुख्यमंत्री ने किसानों के हित में सराहनीय निर्णय किए हैं।

अल्पसंख्यक मामलात मंत्री शाले मोहम्मद ने इस दौरान चर्चा करते हुए बताया कि जिले में राजफैड के माध्यम से सहकारी समितियों द्वारा सरसों व चने की खरीद समर्थन मूल्य पर की जा रही है। उन्होंने बताया कि जिले में 13 संचालित केन्द्रों पर समर्थन मूल्य पर इन फसलों की खरीद की जा रही हैं जिसमें 10 क्रय-विक्रय सहकारी समिति एवं 03 ग्राम सहकारी समितियाँ है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार अधिकतम प्रति किसान 40 क्विंटल फसल की खरीद समर्थन मूल्य पर क्रय कर रही है। उन्होंने कहा कि सरसों का समर्थन मूल्य 4 हजार 425 रुपये तथा चने का समर्थन मूल्य 4 हजार 875 रुपये प्रति क्विंटल है।

उन्होंने ग्राम सेवा सहकारी समिति के पदाधिकारियों को निर्देश दिए कि वे कोविड-19 के तहत सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए किसानों की फसल को प्राप्त करें। मंत्री ने खरीद केन्द्र पर खरीफ फसल तुलाई से संबंधित गतिविधियों का अवलोकन किया और

अल्पसंख्यक मामलात मंत्री ने मदासर खरीद केन्द्र पर किसानों से फसल खरीद के संबंध में जानकारी ली। किसानों ने बताया कि उनकी फसल नियमानुसार क्रय की जा रही है। किसानों ने मौजूदा समय में खरीद केन्द्र से किसानों की उपज खरीदने की व्यवस्था करने के लिए मुख्यमंत्री, अल्पसंख्यक मामलात मंत्री एवं राज्य सरकार का आभार जताया।

                              --000--

अल्पसंख्यक मामलात मंत्री ने मदासर अस्पताल का आकस्मिक निरीक्षण किया,

विभिन्न व्यवस्थाओं को देखा तथा समस्या समाधान का आश्वासन दिया,

ग्राम्यांचलों में बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं के लिए समर्पित दायित्व निभाएं - शाले मोहम्मद

जैसलमेर, 7 मई/अल्पसंख्यक मामलात, वक्फ एवं जन अभियोग निराकरण मंत्री शाले मोहम्मद ने ग्राम्यांचलों में लोक स्वास्थ्य सेवाओं को सुदृढ़ बनाए रखते हुए कोरोना संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के लिए सभी संभव उपायों को बेहतर एवं पूर्ण क्षमता से अमल में लाने पर जोर दिया है और ग्रामीण क्षेत्रों में कार्यरत चिकित्सा एवं स्वास्थ्यकर्मियों से समर्पित होकर काम करने का आह्वान किया है।

अल्पसंख्यक मामलता मंत्री शाले मोहम्मद ने गुरुवार को जैसलमेर जिले के मदासर स्थित राजकीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के आकस्मिक निरीक्षण के दौरान चिकित्सा एवं स्वास्थ्यकर्मियों से चर्चा करते हुए यह निर्देश दिए।

अल्पंख्यक मामलात मंत्री ने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के जनरल वार्ड, ड्रैसिंग रूम, लैब, वैक्सीन व दवाइयों के भण्डारण कक्ष सहित सभी कक्षों एवं परिसरों का निरीक्षण किया और बेहतर व्यवस्थाओं के निर्देश देते हुए केन्द्र के प्रबन्धों पर संतोष व्यक्त किया।

केबिनेट मंत्री ने कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के ऎहतियाती उपायों एवं इससे जुड़ी गतिविधियों के लिए सुनिश्चित प्रबन्धों की जानकारी ली और इस दिशा में हर स्तर पर सतर्क रहने को कहा।

केन्द्र के चिकित्सा अधिकारी प्रभारी डॉ. जगदीश पटेल ने बताया कि कोरोना से संबंधित संदिग्धों की जानकारी सामने आने पर मेडिकल स्क्रीनिंग की व्यवस्था है। इसके अलावा ग्रामीणों को सोशल डिस्टेंसिंग बरतने, कोरोना के लक्षणों व इससे बचाव के उपायों के बारे में आईईसी की जाती है।

केबिनेट मंत्री ने प्राथमिक चिकित्सा केन्द्र स्टाफ की बैठक ली और अस्पताल की मांग, समस्याओं और कमियों के बारे में चर्चा की। इस दौरान डॉ. जगदीश पटेल, जीएनएम हुकुमसिंह एवं खेतसिंह, एलएचवी शारदा विश्नोई, डाटा आपरेटर राजाराम एवं विकास तथा क्षेत्रीय ग्रामीणों ने अस्पताल की व्यवस्थाओं को बेहतर बनाने के लिए सुझाव दिए।

इनमें प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में लाईट्स, पंखों नहीं चलने की स्थिति में भवन की वायरिंग सुधरवाने, पानी की समस्या से मुक्ति दिलाकर आर.ओ. लगवाने तथा मरीजों एवं उनके साथ आने वाले लोगों के लिए परिसर के बाहर प्याऊ स्थापित करने, पेंशेंट परीक्षण कक्ष में एसी लगवाने, ग्रामीण क्षेत्र के मरीजों की सुविधा के लिए 104 या 108 एम्बुलेंस उपलब्ध कराने,  अस्पताल में शैय्याओं की संख्या 3 से बढ़ाकर 10 किए जाने का आग्रह किया गया।

अल्पसंख्यक मामलात मंत्री ने आश्वासन दिया कि प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के प्रबन्धों को सुदृढ़ बनाने तथा आवश्यक सेवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए प्रयास किए जाएंगे।

---000---

फोटो - अल्पसंख्यक मामलात मंत्री श्री शाले मोहम्मद ने गुरुवार को मदासर में राजकीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का अवलोकन करते हुए।

 

जैसलमेर - कोनोरा वायरस के सम्बन्ध में शहरी क्षेत्रों में चतुर्थ चरण का

डोर-टू-डोर सर्वे जारी,होम क्वारेंन्टाईन की भी होगी मॉनेटरिंग

जैसलमेर, 07 मई/राज्य सरकार के निर्देशों की पालना में जिला कलक्टर नमित मेहता ने एक आदेश जारी कर जैसलमेर नगरपरिषद एवं पोकरण नगरपालिका क्षेत्र में वार्ड वाईज कोरोना संक्रमण के प्रति जागरुकता लाने, डोर-टू-डोर सर्वे किये जाने, होम क्वारेंटाईन रखे गये लोगों की समुचित रिपोर्ट करने तथा दिशा-निर्देशों की प्रभावी पालना किये जाने के संबंध में घर-घर सर्वे के चतुर्थ चरण के लिये अध्यापक, आशा कार्यकर्ता, आशा सहायिका, प्रशिक्षु ए.एन.एम आदि को नियुक्त किया है।

जिला कलक्टर मेहता द्वारा जारी किए गए आदेश के अनुसार ये सभी कार्मिक दोनों शहरी क्षेत्रों में डोर-टू-डोर सर्वे के दौरान प्रत्येक निवासी की विस्तृत स्क्रीनिंग (थर्मल स्कैनर इत्यादि द्वारा ) की जाएगी। इसके साथ ही कोरोना लक्षण वाले लोगों को गंभीरता से चिह्नित कर इनकी सूची आवश्यक रूप से तैयार करना सुनिश्चित करेंगे। यह दल पुनः डोर-टू-डोर सर्वे पश्चात सर्वे प्रपत्र तीन दिवस में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी जैसलमेर/ब्लॉक मुख्य चिकित्सा अधिकारी पोकरण को प्रस्तुत करेंगे।

      आदेशानुसार मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी जैसलमेर/ब्लॉक मुख्य चिकित्सा अधिकारी पोकरण चतुर्थ चरण के सर्वे कार्य की प्रभावी मॉनेटरिंग सुनिश्चित करेंगे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी सर्वे समाप्ति के पश्चात निर्धारित प्रपत्र में शीघ्र ही इकजाई रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे।

                              --000--Read More