22-04-2020 Wednesday

जिला कलक्टर नमित मेहता ने ली समीक्षा बैठक, जिले के मौजूदा हालातों की विस्तार से की समीक्षा, कहा - राजस्थान के प्रवासी श्रमिकों को सुविधापूर्वक पहुंचाएं उनके गृह क्षेत्रों में

22 April, 2020
जिला कलक्टर नमित मेहता ने ली समीक्षा बैठक,  जिले के मौजूदा हालातों की विस्तार से की समीक्षा,  कहा - राजस्थान के प्रवासी श्रमिकों को सुविधापूर्वक पहुंचाएं उनके गृह क्षेत्रों में

जैसलमेर, 22 अप्रेल/जिला कलक्टर नमित मेहता ने बुधवार को जैसलमेर जिला कलक्ट्री सभागार मेंं कोरोना संक्रमण से बचाव की गतिविधियों, लॉकडाउन एवं धारा 144 के प्रावधानों की अनुपालना और प्रवासी श्रमिकों को राजस्थान राज्य के भीतर अवस्थित उनके गृह जिलों में पहुंचाने के लिए प्रशासन द्वारा की गई कार्यवाही आदि के बारे में विस्तार से समीक्षा की और अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर ओ.पी. विश्नोई, नगर विकास न्यास के सचिव अनुराग भार्गव, उप निवेशन उपायुक्त देवाराम सुथार, सहायक निदेशक (लोक सेवाएं) भारत भूषण गोयल, उपखण्ड अधिकारी दिनेश विश्नोई, तहसीलदार विकास भाटी, मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी सत्येन्द्रकुमार व्यास, नगर परिषद आयुक्त बृजेश राय, जिला रसद अधिकारी भागुराम महला सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे।

जिला कलक्टर ने राज्य सरकार के आदेश की पूरी-पूरी पालना करते हुए प्रदेश के प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह जिलों में पहुंचाने के काम में पूरी गंभीरता के साथ कार्यवाही करने, नियमानुसार यात्रा प्रबन्धन, स्क्रीनिंग, पंजीकरण आदि सभी विषयों पर विस्तार से निर्देश दिए और कहा कि प्रवासी श्रमिकों को गंतव्य तक पहुंचाने में किसी भी प्रकार की समस्या सामने नहीं आनी चाहिए।

आश्रय स्थलों में ठहरे श्रमिकों का कराएं सुकून का अहसास

उन्होंने शेष श्रमिकों के लिए जिले के विभिन्न क्षेत्रों में संचालित आश्रय स्थलों मेंं ठहरे हुए प्रवासी श्रमिकों से संबंधित जानकारी ली और कहा कि इनके भोजन, पानी, छाया, आवास, मनोरंजन आदि की दृष्टि से बेहतर प्रबन्धों पर बराबर ध्यान केन्दि्रत रहना चाहिए।

उन्होंने कहा कि इन श्रमिकों को सभी जरूरी सुविधाएं मुहैया कराने के साथ ही इनके मनोरंजन के लिए म्यूजिक सिस्टम का पूरा-पूरा उपयोग करें ताकि इन्हेंं आश्रय स्थलों में रहकर सुकून प्राप्त हो सके।

आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता बनी रहे

जिला कलक्टर ने जिले में धारा 144 एवं लॉक डाउन की पूरी गंभीरता से पालना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए और कहा कि लोगों को उनकी जरूरत की सामग्री मुहैया कराने को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जानी चाहिए ताकि आम जन को किसी भी प्रकार से तकलीफ न हो तथा घर बैठे ही आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता सुनिश्चित हो सके। इसके साथ ही उन्होंने जिले के निराश्रितों और जरूरतमन्दों को भोजन सामग्री की समुचित आपूर्ति की नियमित प्रक्रिया पर भी जोर दिया।

मई संभावित टिड्डी प्रकोप के मद्देनज़र रहें गंभीर

जिला कलक्टर ने उपखण्ड अधिकारियों को निर्देश दिए कि आगामी मई माह में संभावित टिड्डियों के आगमन की स्थिति को देखते हुए ग्राम्य स्तर की सरकारी मशीनरी को किसी भी संभावित स्थिति के लिए मुस्तैद रहने तथा ग्राम्य सूचना तंत्र को मजबूती देने के निर्देश दिए ताकि समय रहते स्थितियों पर काबू पाया जा सके।

जिला कलक्टर ने इसके लिए जिले के विभिन्न स्थानों पर समय रहते नियंत्रण कक्ष  स्थापित करने तथा स्थानीय स्टाफ को सक्रिय करने पर बल दिया।

अतिरिक्त जिला कलक्टर ओ.पी. विश्नोई ने राज्य सरकार के अब तक प्राप्त ताजातरीन निर्देशों से अधिकारियों को अवगत कराया और उनके अनुरूप सभी प्रकार की गतिविधियों के संचालन के निर्देश दिए। विभिन्न अधिकारियों ने क्षेत्रीय भ्रमण में सामने आए अनुभवों को सामने रखा तथा महत्वपूर्ण सुझाव दिए।

---000--- Read More