06-05-2020 Wednesday

जैसलमेर - कोरोना महामारी से बचाव एवं रोकथाम की दैनिक समीक्षा बैठक,

6 May, 2020
जैसलमेर - कोरोना महामारी से बचाव एवं रोकथाम की दैनिक समीक्षा बैठक,

जैसलमेर - कोरोना महामारी से बचाव एवं रोकथाम की दैनिक समीक्षा बैठक,

जिला कलक्टर ने दिए कड़े निर्देश -

होम क्वारेंटाईन की प्रभावी पालना सुनिश्चित कराएं,

जांच के लिए सैम्पल की संख्या बढ़ाएं, बड़े कस्बों में भी करें जांच

­­जैसलमेर, 06 मई/जिला कलक्टर नमित मेहता ने कोरोना महामारी से बचाव एवं रोकथाम तथा लॉकडाउन की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देश कि जिले की सीमा से प्रवेश करने वाले प्रत्येक प्रवासी की प्रभावी ढंग से मेडिकल स्क्रीनिंग हो तथा इन प्रवासियों के होम क्वारेंटाईन की गंभीरता से कठोरतापूर्वक पालना सुनिश्चित कराएं।

उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे ग्राम पंचायत स्तर पर यह सुनिश्चित कर लें कि जो भी व्यक्ति बाहरी जिलों एवं अन्य प्रांतों से यहां आ रहे हैं उसकी सूचना तत्काल मिले एवं यदि वे होम क्वारेंटाईन की पालना नहीं करते हैं तो उनको प्रशासन द्वारा संचालित क्वारेंटाईन केन्द्रों पर रखा जाए।

जिला कलक्टर मेहता ने बुधवार को जैसलमेर जिला कलेक्ट्रट सभागार में आयोजित जिलाधिकारियों को बैठक में यह निर्देश दिए। उन्होंने सख़्त हिदायत दी कि चैकपोस्टों के अतिरिक्त अन्य मार्गो से कोई प्रवासी गांव में पहुंचता हैं तो उसकी सूचना अवश्य ही मिलनी चाहिए एवं उसकी मेडिकल स्क्रीनिंग अनिवार्य रूप से कराई जाए। इसके लिये ए.एन.एम ,पटवारी ,ग्रामसेवक को पाबंन्द कर दें। उन्होंने शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में आने वाले प्रत्येक प्रवासी पर विशेष नज़र रखने की हिदायत दी एवं होम क्वारेंटाईन की पालना में किसी प्रकार की कोई कमी नहीं रहे।

मेडिकल स्क्रीनिंग के बाद ही हो पाए प्रवेश

जिला कलक्टर ने कहा कि जिले में स्थापित चैक पोस्टों पर प्रत्येक प्रवासी की प्रवेश के समय मेडिकल जांच के बाद ही उसे प्रवेश की अनुमति दी जाए। उन्होंने कहा कि चिकित्सकों की राय पर जिन प्रवासियों को होम क्वारेंटाईन में रखना हैं उनको पूरी जानकारी भी प्रदान कर दें एवं बताया जाए  कि चिकित्सक परामर्श के अनुरूप वे स्वास्थ्य का लाभ लेंगे।

जांच के लिए सेम्पल्स की संख्या बढ़ाएं

जिला कलक्टर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिये कि वे जिले में सैम्पल जांच में बढ़ोतरी लायें एवं कम से कम 100 से 150 सैम्पल जांच के नमूने लिए जाकर उनको जांच के लिए बाड़मेर भिजवाने की व्यवस्था करें। उन्होंने शहरी क्षेत्र के साथ ही बड़े-बड़े कस्बों में रैंण्डम सैम्पल जांच लेने के निर्देश दिए। उन्होंने शहरी क्षेत्र में भी वार्ड वार टीमों का गठन कर बाहर से आने वाले प्रवासी लोगों पर कड़ी नज़र रखने एवं उनकी होम क्वारेंटाईन की स्थिति की जांच करने के निर्देश दिए।

कोविड केयर सेंटर स्थापित करें

जिला कलक्टर ने जिले में केन्द्र एवं राज्य सरकार के निर्देशों की पालना में कोविड-19 डेडीकेटेड केयर सेंटर केन्द्रों का चिह्निकरण कर उसमें निर्धारित नियमों के अनुसार सभी व्यवस्थाएं प्राथमिकता से सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने इस कार्य को भी सर्वोच्च प्राथमिकता से करने पर बल दिया।

बैठक में सचिव नगर विकास न्यास अनुराग भार्गव, उपायुक्त उपनिवेशन देवाराम सुथार, उपखण्ड अधिकारी दिनेश विश्नोई, नगरपरिषद आयुक्त बृजेश राय, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.बी.के. बारूपाल, प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ. बी.एल.बुनकर, जिला रसद अधिकारी भागुराम महला, उप निदेशक कृषि विस्तार राधेश्याम नारवाल, जिला टिड्डी नियंत्रण अधिकारी राजेश कुमार भी उपस्थित थे।

---000---

जैसलमेर - जिला स्तरीय टिड्डी नियंत्रण समिति की बैठक,

अतिरिक्त जिला कलक्टर ने ली बैठक,

वाहनों की दरों एवं अन्य व्यवस्थाओं के निर्धारण पर हुई चर्चा

जैसलमेर, 06 मई/अतिरिक्त जिला कलक्टर ओ.पी.विश्नाई की अध्यक्षता में बुधवार को जिला स्तरीय टिड्डी नियंत्रण समिति की बैठक हुई। इसमें वाहनों की दरों के साथ ही ट्रैक्टरों एवं पानी के टैंकरों के दरों के निर्धारण के सम्बन्ध में विस्तार से समीक्षा की जाकर उसे अंतिम रूप दिया गया। अतिरिक्त जिला कलक्टर ने निर्धारित दरों के अनुरूप आवश्यकतानुसार अच्छे स्तर के वाहन किराये पर लेने के निर्देश दिये गए।

कार्ययोजना बनाकर करें कार्यवाही

अतिरिक्त जिला कलक्टर  ओपी विश्नोई ने टिड्डी नियंत्रण के संबंध में अभी से ही कार्ययोजना बना कर ठोस कार्यवाही अमल लाने पर जोर दिया। साथ ही उन्होंने टिड्डी विभाग के अधिकारियों एवं कृषि विभाग के अधिकारियों को समय रहते संसाधनों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के साथ ही पर्याप्त मात्रा में कीटनाशक दवाईयों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

उन्होंने सीमा क्षेत्र के गाँवों में जहां से टिड्डी दल के प्रवेश की संभावना अधिक रहती हैं वहां पर टिड्डी दल विभाग को अपनी टीमें तैनात करने पर सलाह दी गई ताकि समय रहते टिड्डी नियंत्रण की कार्यवाही अमल में लायी जा सकें। बैठक के दौरान राजस्व एवं कृषि विभाग को टिड्डी नियंत्रण के सम्बन्ध में ग्राम स्तर पर रिसोर्स के चयन की कार्यवाही करने पर भी समीक्षा की गई।

जिला स्तरीय समिति की बैठक में उपनिदेशक कृषि विस्तार राधेश्याम नारवाल नेविचारणीय बिन्दुओं को विस्तार से रखा। बैठक में उपायुक्त उपनिवेशन देवाराम सुथार, उप वन संरक्षक बेगाराम जाट, कोषाधिकारी देवकृष्ण पंवार, जिला परिवहन अधिकारी टीकूराम पूनड़, प्रबंध निदेशक सहकारी बैंक जगदीश सुथार सहित कृषि विभाग के अधिकारी एवं जिला टिड्डी नियंत्रण अधिकारी राजेश कुमार भी उपस्थित थे।

--000--

जिला कलक्टर ने टिड्डी नियंत्रण के लिए ठोस प्रयासों में जुटने के निर्देश दिए

जैसलमेर, 6 मई/जिला कलक्टर नमित मेहता ने जिले के टिड्डी नियंत्रण गतिविधियों के लिए हर स्तर पर सभी संभव ऎहतियाती उपाय सुनिश्चित करने के निर्देश सभी संबंधित अधिकारियों को दिए हैं।

जिला कलक्टर ने बुधवार को जैसलमेर जिला कलक्ट्री सभाकक्ष में टिड्डी नियंत्रण से संबंधित तैयारियों पर चर्चा करते हुए यह निर्देश दिए।

ग्रामस्तर पर सूचना तंत्र को बनाएं प्रभावी

जिला कलक्टर ने टिड्डी नियंत्रण के सम्बन्ध में की जाने वाली व्यवस्थाओं एवं गतिविधियों की विस्तार से समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे ग्राम स्तर पर कमेटियों का गठन कर सूचना तंत्र को मजबूत बनाएं एवं समय रहते टिड्डी नियंत्रण की कार्यवाही अमल में लाएं। उन्होंने समय पर वाहनों एवं अन्य संसाधनों, कीटनाशक स्प्रे का पर्याप्त मात्रा मे उपलब्धता सुनिश्ििचत करने के निर्देश दिए।

सीमावर्ती क्षेत्रों में लगाएं शिविर

जिला टिड्डी नियंत्रण अधिकारी को निर्देश दिए गए कि वे सीमा क्षेत्र के गांवों से टिड्डी प्रवेश की संभावनाओं के मद्देनज़र ऎसे स्थानों का चयन कर वहां कैम्प लगाने की व्यवस्था करें ताकि टिड्डी दल आगमन के साथ ही उस प्रकोप को आरंभिक अवस्था में खत्म किया जा सके। उन्होंने सम्बन्धित विभागों को टिड्डी नियंत्रण कक्षों का प्रभावी ढंग से संचालन करने के निर्देश दिये।

कीटनाशक स्प्रे की जरूरत से कराएं अवगत

जिला कलक्टर ने उप निदेशक कृषि विस्तार राधेश्याम नारवाल से  कहा कि जिन सहकारी समितियों पर कीटनाशक स्प्रे की जरूरत रहेगी उसकी सूची उपलब्ध कराएं ताकि सहकारी विभाग से उन समितियों पर कीटनाशक दवाइयों की आवश्यक मात्रा में उपलब्धता सुनिश्चित की जा सके। उन्होंने उपखण्ड अधिकारियों को निर्देश दिये कि टिड्डी दल के नियंत्रण के संबंध में पटवारी, गिरदावर की भी बैठक लेकर उनको भी सतर्क करें।

बैठक में उप निदेशक कृषि विस्तार राधेश्याम नारवाल, जिला टिड्डी नियंत्रण अधिकारी राजेश कुमार आदि अधिकारियों ने विचार रखे।

---000---

जैसलमेर - बिजली प्रबन्धन तंत्र द्वारा नियंत्रण कक्ष संचालित,

बिजली समस्याओं का समाधान पाने नियंत्रण कक्ष का सहयोग

जैसलमेर, 06 मई/अधीक्षण अभियंता जोधपुर डिस्कॉम एन.के.जोशी ने एक आदेश जारी कर जिले में गर्मी के मौसम एवं आंधी, तूफान एवं बरसात को देखते हुए जैसलमेर वृत की विद्युत सप्लाई को सुचारु एवं निर्बाध बनाए रखने के लिए कार्यालय अधीक्षण अभियंता जैसलमेर में नियन्त्रण कक्ष स्थापित किया है जो चौबीस घण्टे संचालित रहेगा। इस नियंत्रण कक्ष के दूरभाष नम्बर 02992-254841 है। इस नियंत्रण कक्ष पर विद्युुत संबंधी समस्या के सम्बन्ध में सूचना दी जा सकती है।

अधीक्षण अभियंता द्वारा जारी सूचना के अनुसार इस नियंत्रण कक्ष के संचालन के लिये विभिन्न पारियों के हिसाब से अधिकारी-कर्मचारी भी लगा दिये गये हैं। इस नियंत्रण कक्ष के प्रभारी अधिशाषी अभियंता के.सी.किराड़ को लगाया गया है जिनके मोबाईल नम्बर 9414021327 हैं।

---000--

डाक विभाग द्वारा डोर टू डोर भुगतान की सुविधा,

ए.ई.पी.एस के माध्यम से की गई है यह व्यवस्था

जैसलमेर, 06 मई/डाक विभाग द्वारा पोस्ट पैमेन्ट्स खाते के अलावा (आईपीबी) के अलावा बैंक खाते में जमा राशि का भुगतान भी डाक विभाग द्वारा ए.ई.पी.एस के माध्यम से डोर-टू-डोर भुगतान की सुविधा प्रदान की जा रही है। इसके लिये अधिकतम भुगतान की राशि 10 हजार रुपये है।

अतिरिक्त जिला कलक्टर ओ.पी.विश्नोई ने बताया कि डाक विभाग के कार्मिकों द्वारा आईपीबी के माध्यम से जनधन खाताधारकों एवं पेंशनर्स को ( कफ्र्यूग्रस्त क्षेत्र को छोड़कर ) डोर-टू-डोर अनुग्रह राशि का भुगतान सोशल डिस्टेसिंग के मानदण्डों की पालन करते हुए किया जा सकेगा।

--000--

जैसलमेर जिले में निषेधाज्ञा 17 मई तक बढ़ाई गई,

जिला मजिस्ट्रेट नमित मेहता ने जारी किए आदेश

जैसलमेर, 6 मई/ जिला कलक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट नमित मेहता ने दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के अन्तर्गत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए सम्पूर्ण जैसलमेर जिले की समस्त राजस्व सीमाओं में स्थित सार्वजनिक स्थानों, धार्मिक स्थानों एवं अन्य आमजन के द्वारा आयोजित किये जाने वाले कार्यक्रमों में एकत्रित होने वाले व्यक्तियों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए जिला कलक्टर कार्यालय द्वारा पूर्व में जारी आदेशों की निरन्तरता में जैसलमेर जिले की राजस्व सीमा में निषेधाज्ञा जारी की है।

आदेश के अनुसार जिले में अनुमत गतिविधियों के अलावा अन्य परिस्थितियों में 5 या 5 से अधिक व्यक्तियों के आवागमन एवं एकत्रित होने पर प्रतिबन्ध रहेगा। जिले के सभी राजकीय एवं मान्यता प्राप्त निजी विद्यालय मदरसे, शैक्षणिक, प्रशिक्षण, कोचिंग संस्थान बन्द रहेंगे। अॅानलाईन अध्यापन/कक्षाओं को प्रोत्साहन एवं सुविधा दी जाएगी।

आदेश के अनुसार जिले में समस्त पर्यटन स्थल, संग्रहालय, ऎतिहासिक स्मारक, किले, पशु हंटवाडे, पार्क,खेल मैदान, चिडियाघर, स्पा, अभ्यारण्य, सार्वजनिक मेले, स्वीमिंग पूल, सांस्कृतिक एवं सामाजिक केन्द्र, जिम सिनेमाघर, मॉल, शापिंग मॉल, स्पोर्टस कॉम्पलेक्स और समान प्रकृति के स्थान बन्द रहेंगे तथा सांस्कृतिक, धार्मिक कार्यक्रम तथा अन्य समारोह व बड़ी सभाएं आदि आगामी  17 मई  तक बन्द रहेंगे।

इसी प्रकार सभी सरकारी, अद्र्ध सरकारी संगठनों स्वयंसेवी संगठनों एवं अन्य कार्यालय के ऎसे कार्यक्रम जिनमें 05 से अधिक सख्या में नागरिकों के भाग लेने की संभावना है, का आयोजन नहीं किया जाएगा। सुरक्षा उद्देश्यों अथवा भारत /राज्य सरकार द्वारा अनुमत को छोडकर सभी घरेलू और अन्तर्राष्ट्रीय हवाई यात्रियों की यात्रा, ट्रेनों के द्वारा सभी यात्री आवागमन, सार्वजनिक परिवहन के लिये बसाें पर पूर्णतया प्रतिबंध रहेगा।

आदेश में कहा गया है कि चिकित्सीय कारणों को छोड़कर या राज्य सरकार/भारत सरकार के दिशा-निर्देशों के तहत अनुमत गतिविधियों के अलावा व्यक्तियों का जिले के भीतर आवागमन पर प्रतिबंध रहेगा। सभी धार्मिक स्थल/ पूजा स्थल जनता के लिये बन्द रहेंगे, सभी धार्मिक सम्मेलन पूर्णतः प्रतिबंधित रहेंगे। सार्वजनिक स्थानों, कार्यालयों, कार्यस्थलों में चेहरे पर मॉस्क पहनना अनिवार्य होगा तथा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा जारी दिशा- निर्देशों के अनुसार सार्वजनिक स्थानों, कार्य स्थलों और परिवहन के प्रभारी सभी व्यक्ति सामाजिक दूरी सुनिश्चित करेंगे।

आदेश के अनुसार सार्वजनिक स्थानों पर थूकना जुर्माने से दण्डनीय होगा तथा थूकना पूरी तरह से प्रतिषेध होगा। सभी कार्य स्थलों में तापमान जाँच के लिये पर्याप्त व्यवस्था करनी होगी तथा सार्वजनिक स्थानों पर सैनेटाइजर्स उपलब्ध कराये जाने होंगे तथा कार्य स्थलों पर पारियों केे मध्य एक घण्टे का अन्तराल किया जावेगा तथा सामाजिक दूरी को सुनिश्चित किया जावेगा।

आदेश में कहा गया है कि अनुमत गतिविधियों में आम सतहों की बार बार सफाई तथा अनिवार्य रूप से हाथों की धुलाई की जानी होगी, पारियों का अधिव्यापन (ओपरलेप) नहीं होगा तथा सामाजिक दूरी के साथ कैन्टीन में लंच आदि का अन्तराल रखा जायेगा। जिले की समस्त स्वायत्तशासी निकायों/स्वयंसेवी संस्थाओं को आदेशित किया गया है कि वे भी अपने स्तर पर नाटक मंचन, थियेटर एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन नहीं करेंगे।

आदेश में कहा गया है कि जिले के समस्त आंगनवाड़ी केन्द्र तथा मिनी आंगनवाड़ी केन्द्र दिनांक 17 मई तक बन्द रहेंगे। आंगनवाड़ी कार्यकर्ता/सहायिका अपने केन्द्र के दैनिक कार्य विधिवत रूप से संपादित करेंगी।

यह स्पष्ट किया गया है कि यह आदेश चिकित्सा संस्थान, पोस्ट ऑफिस. बैंक, सरकारी व अन्य सार्वजनिक कार्यालयों एवं अधिकृत व्यक्तियों की उपस्थिति की स्थिति में लागू नहीं होगा। सांय 7 बजे से प्रातः 7 बजे तक सभी गैर आवश्यक गतिविधियों के लिए व्यक्तियों के आवागमन पर सख्त प्रतिबंध रहेगा। आपात स्थिति या आवश्यक मांग होने पर जिला प्रशासन या नजदीकी पुलिस स्टेशन से पास प्राप्त किया जायेगा। यह ड्यूटी पर कार्यरत सरकारी कर्मचारियों या चिकित्सकों/चिकित्सा और पैरा मेडिकल स्टाफ पर लागू नहीं होगा, जिनके लिए अधिकारिक पहचान पत्र पर्याप्त होगा।

आदेश के अनुसार सभी कार्यस्थल (दुकानें/ कार्यालय/ कारखाना आदि) जब तक कि इस संबंध में जिला प्रशासन से विशिष्ट स्वीकृति प्राप्त नहीं कर ली गयी हो, सांय 6 बजे या इससे पूर्व बंद कर दिये जाएंगे। भारत सरकार, /राज्य सरकार द्वारा अनुमत गतिविधियों या चिकित्सकीय कारणों को छोड़कर व्यक्तियों का अन्तर्राज्यीय आवागमन प्रतिबंध रहेगा। स्वास्थ्य, पुलिस, सरकारी कर्मचारियों, स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं, फंसे हुए व्यक्तियों सहित पर्यटकों के आवास के लिये तथा क्वारेन्टीन सुविधा के लिये उपयोग में ली गयी आतिथ्य सेवाओं को छोडकर अन्य सभी आतिथ्य सेवाएं बन्द रहेंगी।

आदेश में कहा गया है कि सभी सार्वजनिक स्थानों पर चेहरे पर मॉस्क पहनना आवश्यक होगा तथा कोई भी दुकानदार ऎसे व्यक्ति को जिसने मॉस्क नहीं पहना हो, कोई सामान नहीं बेचेगा तथा सार्वजनिक स्थान, कार्य स्थलों एवं परिवहन के प्रभारी सभी व्यक्ति सामाजिक दूरी (कम से कम 6 फिट) की पालना सुनिश्चित करेंगे। अन्तिम संस्कार / अन्तिम विधियों से संबंधित अवसर पर समाजिक दूरी सुनिश्चित की जायेगी और 20 से अधिक व्यक्तियों के एकत्र होने पर प्रतिबंध रहेगा।

आदेश में स्पष्ट किया गया है कि गृह विभाग के 2 मई को जारी पत्र में उल्लेखित ऑरेंज जोन में अनुमत गतिविधियों के अतिरिक्त शेष सभी गतिविधियां प्रतिबंधित रहेंगी। इसी प्रकार पोकरण नगर पालिका क्षेत्र में लागू की गई निषेधाज्ञा जारी रहेगी।

जिला मजिस्ट्रेट द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि इस निषेधाज्ञा की अवहेलना या उल्लंघन किए जाने पर भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के  तहत अभियोग चलाया जायेगा। यह आदेश 17 मई या आगामी आदेशों तक (जो भी पहले हो) सम्पूर्ण जैसलमेर जिले की सीमा में प्रभावशील रहेगा।

---000---Read More