05-04-2020 Sunday

जैसलमेर के लिए राहत भरी खबर, तब्लीगी जमात से जुड़े व्यक्ति के साथ रहे सभी सातों की रिपोर्ट आई नेगेटिव

जैसलमेर, 5 अपे्रल/ जैसलमेर के लिए राहत भरी खबर है। जिन सात जनों के सेंपल जांच के लिए भिजवाए गए थे उन सभी की रिपोर्ट नेगेटिव आयी है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.के. बारूपाल ने बताया कि तब्लीगी जमात में शामिल व्यक्ति के साथ रहे पोकरण के 7 जनों के सेंपल कोरोना वायरस संक्रमण की जांच के लिए जोधपुर भेजे गए थे। इनकी रिपोर्ट आ गई है जिसमें से कोई भी कोरोना संक्रमित नहीं पाया गया। इन सभी की रिपोर्ट नेगेटिव आयी है।

उन्होंने बताया कि जिले में अब तक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा भिजवाए गए सेंपल्स की प्राप्त रिपोर्ट्स के अनुसार सभी सेंपल नेगेटिव आए हैं। अब तक कोई भी कोरोना पोजिटिव नहीं है।

---000---

जैसलमेर - कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए खास इंतजाम,

श्री जवाहिर चिकित्सालय में हाथ धोने के लिए की गई अतिरिक्त व्यवस्था

जैसलमेर 05 अप्रेल / कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के लिए जिला मुख्यालय स्थित श्री जवाहिर चिकित्सालय में अस्पताल प्रशासन द्वारा व्यापक स्तर पर कई प्रकार के ऎहतियाती उपायों को अंजाम दिया जा रहा है।

        प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ. बी.एल. बुनकर ने बताया की जिला अस्पताल में पार्किंग स्थल के पास एवं एम.सी.एच. यूनिट के प्रवेश द्वार के पास दो स्थानों पर हाथ धोने की विशेष व्यवस्था की गई है ताकि अस्पताल में आने वाले समस्त मरीजों एवं उनके परिजनों को हाथ धोने की प्रक्रिया का पूर्ण पालन करवाया जा सके। इस व्यवस्था के सुचारू क्रियान्वयन के लिए चिकित्सक डॉ. सुरेन्द्र दुग्गड़ को प्रभारी अधिकारी नियुक्त किया गया है।

    पीएमओ ने बताया कि इसके अतिरिक्त श्री जवाहिर चिकित्सालय में सोश्यल डिस्टेसिंग की भी कठोरता से पालना की जा रहा है। मरीजाें को चिकित्सकाें से परामर्श लेते समय निश्चित दूरी बनाये रखने की समझाईश भी की जा रही है। जिला अस्पताल में कार्यरत समस्त चिकित्सकों एवं विभिन्न संवर्ग के कार्मिकों को कोराना वायरस से बचाव हेतु आवश्यक फेस मास्क एवं सेनेटाईजर नियमित रूप से समय-समय पर उपलब्ध करवाये जा रहे हैं।

---000---

जैसलमेर  की शिक्षिका शीला देवी का अनुकरणीय योगदान,

सामाजिक सरोकारों के निर्वहन में समर्पित भागीदारी का निर्वाह

जैसलमेर, 5 अप्रेल/ कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के लिए आवश्यक फेस मास्क तैयार करने में आमजन द्वारा भी विशेष सहयोग प्रदान किया जा रहा है। इसी तरह की अनुकरणीय पहल करते हुए बेहतर उदाहरण पेश किया है शिक्षिका शीला देवी ने।

    श्री जवाहिर चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ. बी. एल. बुनकर ने बताया की गफूर भट्ठा निवासी शिक्षिका शीला देवी द्वारा स्वप्रेरणा से सामाजिक सरोकार का निर्वहन करते हुए अपने घर पर कपड़े के फेस मॉस्क तैयार किए गए और मरीजाें को उपलब्ध करवाने हेतु चिकित्सालय प्रशासन को सौंपे गये हैं। डॉ. बुनकर द्वारा निःशुल्क फेस मास्क उपलब्ध कराने की शिक्षिका की इस अनुकरणीय पहल का स्वागत करते हुए आभार जताया है।

---000---

जरूरतमन्दों को राशन किट का वितरण कार्य जारी

जैसलमेर, 5 अप्रेेल/ लॉकडाउन की अवधि में जरूरतमन्दों को भोजन सुविधा के लिए राशन किट का वितरण कार्य व्यापक स्तर पर जारी है। इस कार्य में जिले के भामाशाह भी बढ़-चढ़ कर हिस्सा ले रहे हैं। रामदेवरा में रविवार को भामाशाह अमराराम द्वारा जरूरतमन्दों को डेढ़ सौ राशन किट का वितरण किया गया।

---000---

अल्पसंख्यक मामलात मंत्री ने आम जन से की अपील -

लॉक डाउन का पूरा-पूरा पालन करें,

अब तक प्राप्त सहयोग के लिए जताया आभार

जरूरतमन्दों की हरसंभव मदद में दिन-रात जुटी है सरकार,

प्रशासन है भरसक प्रयत्नशील

जैसलमेर, 5 अप्रेल/अल्पसंख्यक मामलात, वक्फ एवं जन अभियोग निराकरण मंत्री शाले मोहम्मद ने कोरोना वायरस संक्रमण की त्रासदी से बचाव एवं रोकथाम के लिए किए जा रहे प्रयासों में हरसंभव सहयोग देने तथा लॉकडाउन का पूरा-पूरा पालन करने का आह्वान जन-जन से किया है और अब तक प्राप्त सहयोग के लिए सभी का आभार जताया है।

केबिनेट मंत्री शाले मोहम्मद ने यहाँ जारी अपील में कहा है कि संक्रमण से बचाव के लिए मुख्यमंत्री एवं प्रधानमंत्री की अपील का पूरा-पूरा पालन करते हुए आगामी 14 अप्रेल तक लॉक डाउन में रहें और घर से बाहर न निकलें। यही इस संक्रमण से बचाव का सबसे आसान उपाय है।

    उन्होंने कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के लिए सरकार द्वारा जारी एडवाइजरी का अक्षरशः पालन करने पर जोर दिया और कहा कि मौजूदा समय में आत्म संयम की सर्वाधिक आवश्यकता है, तभी हम इस संक्रमण से खुद को, परिवार को, अपने क्षेत्र, प्रदेश और देश को बचाने में कामयाब हो सकेंगे।

उन्होंने इस आपदा की घड़ी में दिन-रात सेवाएं दे रहे चिकित्सकों, पुलिसकर्मियों, मीडियाकर्मियों तथा सभी संबद्धजनों की सराहना करते हुए लोगों से कहा है कि इन्हें हरसंभव सहयोग करें, ये सभी लोग आपके, आपके परिवार, समुदाय, राज्य और अपने देश के लिए काम कर रहे हैं।

    केबिनेट मंत्री ने कहा कि लोग अपने घरों में ही रहें। उनकी जरूरतों की पूर्ति के लिए प्रशासन और सरकार व्यापक स्तर पर प्रयास कर रही है। मुख्यमंत्री जी ने इसके लिए प्रदेश भर में आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता और राशन आदि सामग्री हर जरूरतमन्द तथा जनता के घरों तक पहुंचाने की व्यवस्था की है। सरकार इस बात के लिए कृत संकल्पित है कि प्रदेश के हर जरूरतमन्द को बुनियादी जरूरतों को घरों तक मुहैया कराई जाए और लॉकडाउन की स्थिति में प्रदेश में कोई भूखा न रहे।

    उन्होंने जनता से अपील की कि आगामी 14 अप्रेल तक पूरी तरह धैर्य के साथ रहें, संयम बरतें और किसी भी प्रकार की जरूरत महसूस होने या परेशानी के समाधान के लिए हर स्तर पर संचालित नियंत्रण कक्षों को सूचित करें, हैल्प लाईन का सहयोग लें। जनता की हर परेशानी को दूर करने के लिए सर्वत्र व्यापक एवं कारगर व्यवस्था है।

---000---

कोरोना हैल्थ बुलेटिन - 5 अप्रेल 2020

जैसलमेर - रविवार को 38 सेम्पल लिए गए, अब तक कोई नहीं पोजिटिव

जैसलमेर, 5 अप्रेल/जैसलमेर जिले में कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के ऎहतियाती उपायों के अन्तर्गत व्यापक स्तर पर कारगर प्रयास निरन्तर जारी हैं। जिले में अब तक हुई चिकित्सकीय जांच में कोई भी कोरोना पोजिटिव नहीं पाया गया है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.के. बारूपाल ने दैनिक कोरोना हैल्थ बुलेटिन जारी करते हुए बताया कि जैसलमेर जिले में रविवार तक कुल 5 हजार 094 लोगों को होम आइसोलेशन में भेजा जा चुका र्है। इनमें 1 हजार 379 लोगों द्वारा होम आइसोलेशन की निर्धारित 14 दिन की अवधि पूर्ण कर ली गई है।

    आरंभ से रविवार शाम तक जिले में कोरोना जांच के लिए कुल 106 सेंपल लिए गए जबकि अकेले रविवार को 38 सेंपल लेकर जांच के लिए जोधपुर भिजवाए गए हैं।

     जिले से भिजवाए गए कुल 106 में से 63 जनों के कोरोना सेेंपल जांच में नेगेटिव आए हैं जबकि 43  कोरोना सेंपल की रिपोर्ट आनी शेष है। जिले में अब तक कोई भी कोरोना पोजिटिव नहीं पाया गया है। रविवार को जिले के चिकित्सा संस्थाओं में कुल 10  मरीज आइसोलेशन वार्डों में भर्ती हैं।

---000---

जैसलमेर डीएसओ ने दी कड़ी चेतावनी

राशन सामग्री वितरण में डीलर रखे सावधानी अन्यथा होगी कार्यवाही,

जैसलमेर 05 मार्च/जिला रसद अधिकारी भागुराम महला ने जिले के राशन डीलरों को कड़ी चेतावनी जारी की है कि राशन सामग्री वितरण में आवश्यक सावधानी रखें और नियमानुसार कार्य का संपादन करें अन्यथा सख्त कार्यवाही अमल में लाई जाएगी और किसी को बख्शा नहीं जाएगा।

    जिला रसद अधिकारी ने बताया कि जिले मेें ऎसे राशनकार्ड धारक जो पिछले एक वर्ष से राशन सामग्री नहीं ले रहे है वे अबेयन्स राशनकार्ड की सूची में आते हैं। वर्तमान में कोरोनावायरस के संक्रमण को रोकने के लिए राज्य सरकार द्वारा राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजनान्तर्गत पात्र परिवारों को खाद्यान्न प्राप्त करने में सुविधा व सोश्यल डिस्टेसिंग को ध्यान में रखते हुए उपभोक्ताओं को बिना बायोमैट्रिक सत्यापन के राशन सामग्री उपलब्ध कराने का प्रावधान किया गया है। इसका कई उचित मूल्य दुकानदारों द्वारा अनावश्यक फायदा उठाकर बिना राशन सामग्री दिए पोस मशीन से राशन सामग्री का उठाव किया जा रहा है।

    उन्होंने बताया कि ऎसे उचित मूल्य दुकानदारों की जांच के लिए जिला रसद कार्यालय द्वारा व्यापक निगरानी एवं निरीक्षण की कार्यवाही की जा  रही है। इसमें संबंधित प्रवर्तन निरीक्षक अबेयन्स श्रेणी के राशन उठाने वाले उपभोक्ताओं में से कम से कम 30 प्रतिशत उपभोक्ताओं से संपर्क स्थापित कर जांच करेंगे।

    महला ने बताया कि उचित मूल्य विक्रेता राशन वितरण के समय सावधानी रखें, विभागीय निर्देशानुसार उपभोक्ताओं से ओटीपी प्राप्त कर ही राशन सामग्री वितरण करना सुनिश्चित करें, जिससे राशन वितरण में पारदर्शिता हो। अतिआवश्यक होने पर पोस मशीन पर उपलब्ध अन्य ऑप्शन का प्रयोग करें।

    उन्होंने चेतावनी दी कि राशन वितरण के दौरान विभागीय निर्देशों की अवहेलना करने पर नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी एवं आवश्यक होने पर कानुनी कार्यवाही अमल में लाई जा सकती है।

    उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों फतेहगढ़ तहसील के तेजरावा गांव के उचित मूल्य विक्रेता भगवानसिंह द्वारा राशन वितरण के दौरान फर्जी तरीके से बाड़मेर जिले के उपभोक्ताओं का राशन गबन कर लिया था जिस पर जिला रसद कार्यालय ने कार्यवाही कर डीलर के खिलाफ तुरन्त मामला झिनझिनयाली थाने में दर्ज करवाया जिसकी जांच पुलिस द्वारा की जा रही है।

    जिला रसद अधिकारी ने कहा कि लॉकडाउन में सभी उचित मूल्य दुकानदार राशन सामग्री वितरण को गंभीरता से लेते हुए पात्र उपभोक्ताओं को राशन सामग्री वितरण करें, जिससे राज्य सरकार की मंशा अनुसार किसी भी जरूरतमंद पात्र व्यक्ति को खाद्य सामग्री की परेशानी नहीं हो।

---000--

लॉकडाउन एवं कफ्र्यू की सख्ती से पालना हो - मुख्यमंत्री

जयपुर, 5 अप्रेल। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए राज्य में लॉकडाउन एवं कफ्र्यू की सख्ती से पालना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए लोगों का घरों में रहना जरूरी है।

    श्री गहलोत रविवार को मुख्यमंत्री निवास पर वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए गृह विभाग एवं वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के साथ राज्य में लॉकडाउन एवं कफ्र्यू की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि ऎसे विकट समय में पुलिसकर्मी सड़क पर खड़े रहकर मुस्तैदी से अपनी ड्यूटी को अंजाम दे रहे हैं। साथ ही अन्य व्यवस्थाओं तथा मानवीय कार्यों में भी सहयोग दे रहे हैं जो कि प्रशंसनीय है।

    इस दौरान मुख्यमंत्री ने इस महामारी के रोगियों का उपचार कर रहे चिकित्सकों एवं स्क्रीनिंग कर रहे स्वास्थ्यकर्मियों की पुख्ता सुरक्षा करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कोरोना वॉरियर्स को सुरक्षा प्रदान करना हम सभी की जिम्मेदारी है। श्री गहलोत ने निर्देश दिए कि सोशल मीडिया तथा अन्य माध्यमों से फैलाई जा रही अफवाहों एवं गलत सूचनाओं पर पुलिस अधिकारी प्रभावी अंकुश लगाएं। ऎसा करने वाले लोगों पर सख्त कार्रवाई अमल में लाएं।

    वीडियो कांफ्रेंस के दौरान अतिरिक्त मुख्य सचिव गृह श्री राजीव स्वरूप, पुलिस महानिदेशक श्री भूपेन्द्र सिंह, महानिदेशक कानून-व्यवस्था श्री एमएल लाठर, एडीजी क्राइम श्री बीएल सोनी, एडीजी इंटेलीजेंस श्री उमेश मिश्रा, एडीजी एसओजी श्री अनिल पालीवाल आदि वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने मुख्यमंत्री को वस्तुस्थिति से अवगत कराया।

    अपनी-अपनी रेंज का दौरा कर लौटे प्रभारी अतिरिक्त पुलिस महानिदेशकों ने मुख्यमंत्री को लॉकडाउन तथा कफ्र्यूग्रस्त इलाकों की जानकारी देते हुए बताया कि राज्य के विभिन्न जिलों के 34 थाना इलाकों में कफ्र्यू लगाया गया है। इसकी पूरी तरह पालना करवाई जा रही है। साथ ही सोशल मीडिया पर भ्रामक सूचनाएं देने के मामलों में 50 से अधिक मुकदमे दर्ज किए गए हैं और 300 से अधिक लोगों पर कार्रवाई की गई है।

कोर ग्रुप तथा क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप से चर्चा

    श्री गहलोत ने कोर गु्रप तथा वार रूम के क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ भी वीडियो कांफ्रेंस कर कोरोना की स्थिति की समीक्षा की। मुख्यमंत्री ने आईसोलेशन, चिकित्सा उपकरणों की उपलब्धता, राशन एवं खाद्य सामग्री पहुंचाने, प्रवासी कामगारों के लिए बनाए गए शिविरों में आवश्यक व्यवस्थाओं, गर्भवती महिलाओं के सुरक्षित प्रसव आदि के बारे तमाम इंतजाम सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने फसल कटाई, मंडियों में कृषि जिंसों की खरीद-फरोख्त प्रारंभ करने आदि के बारे में चर्चा की।

    मुख्य सचिव श्री डीबी गुप्ता ने मुख्यमंत्री को बताया कि केन्द्रीय कैबिनेट सचिव द्वारा आज ली गई वीडियो कांफ्रेंसिंग में कोरोना से बचाव के लिए भीलवाड़ा में किए गए उपायों की सराहना की गई है। उन्होंने अवगत कराया कि केन्द्रीय कैबिनेट सचिव ने भीलवाड़ा मॉडल को पूरे देश में लागू करने के संकेत दिए हैं।

    वार रूम प्रभारी सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग के प्रमुख सचिव श्री अभय कुमार ने क्वारेंटाइन में रह रहे लोगों की ट्रेकिंग के लिए तैयार डैश बोर्ड के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि इससे ऎसे लोगों की गतिविधियों की ट्रेकिंग सुनिश्चित की जा रही है।

----

जैसलमेर जिले का एक जना निकला कोरोना संक्रमित, जांच में पाया गया पोजिटिव

जैसलमेर, 5 अप्रेल/जैसलमेर जिले का एक जना कोरोना संक्रमित पाया गया है। रविवार शाम प्राप्त जाँच रिपोर्ट में इसकी पुष्टि हुई है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.के. बारूपाल ने बताया कि जैसलमेर जिले के पोकरण शहर में सिपाहियों का मोहल्ला निवासी 45 वर्षीय इस्लामुद्दीन पुत्र दीन मोहम्मद का सेंपल लेकर जांच के लिए भिजवाया गया था। इसकी रिपोर्ट आज शाम प्राप्त हो गई जिसमें वह कोरोना संक्रमण पोजिटीव पाया गया है।

---000---