01-04-2020 Wednesday

किराणा आपके घर सेवा का लाभ लें।

1 April, 2020

किराणा आपके घर सेवा का लाभ लें।

 View Updated Store List

जिला प्रशासन की ओर से आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए व्यापक व्यवस्थाएं की गई हैं। घर बैठे उनका लाभ लें। लॉक डाउन का पालन करें।

--------

केबिनेट मंत्री शाले मोहम्मद व परिवार की सराहनीय पहल,

ग्रामीण क्षेत्रों में 21 लाख की लागत से भेजी जाएगी राहत सामग्री,

1000 परिवारों के लिए राशन सामग्री लेकर रवाना हुआ ट्रक

 

जैसलमेर, 01 अप्रैल/कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए लॉक डाउन के अन्तर्गत जरूरतमन्दों को सहयोग के लिए भामाशाहों का कारवां उमड़ रहा है। भामाशाह और संस्थाएं बढ़-चढ़ कर उदारतापूर्वक मदद के लिए आगे आ रहे हैं।  सीमावर्ती जैसलमेर जिले में अल्पसंख्यक मामलात, वक्फ एवं जन अभियोग निराकरण मंत्री शाले मोहम्मद एवं उनका परिवार जरूरतमन्दों के लिए व्यापक स्तर पर मदद को आगे आया है।

केबिनेट मंत्री शाले मोहम्मद के आवास से बुधवार को गांवों और दूरदराज की ढांणियों में रह रहे एक हजार परिवारों के लिए तैयार किए गए राहत सामग्री के किट रवाना किए गए। राशन सामग्री के ट्रक को सभापति हरिवल्लभ कल्ला, प्रधान अमरदीन फकीर ने रवाना किया। राशन सामग्री के इन पैकेट्स को प्रधान अमरदीन एवं उनके सहयोगियों द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में वितरित किया जाएगा। वितरण कार्य को अंजाम देने के लिए प्रधान अमरदीन फकीर, समाजसेवी विकास व्यास एवं खट्टन खान भी ट्रक के साथ रवाना हुए।

अल्पसंख्यक मामलात मंत्री शाले मोहम्मद ने बताया कि विपदा की इस घड़ी में उनके परिवार ने जरूरतमंदों की हरसंभव सहायता का संकल्प लिया है। इस फर्ज को निभाते हुए जनता की पूरी मदद की जाएगी। सेवा के इस संकल्प को पूरा करने के लिए प्रथम चरण में एक हजार परिवारों को सहायता मुहैया कराई जाएगी। यह सेवा कार्य आगामी दिनों तक लगातार जारी रहेगा।कुल 21 लाख रुपए की राशन की सामग्री आगे के चरणों मे भेजी जाएगी

प्रधान अमरदीन फकीर ने बताया कि जैसलमेर जिले के दूरदराज गांवों व ढाणियों में रहने वाले 1000 जरूरतमंद परिवारों को राहत सामग्री का वितरण किया जाएगा। कोरोना वायरस के संक्रमण की आशंकाओं के बीच जिले में चल रहे लॉक डाउन के दौरान ग्रामीण इलाकों में निवास करने वाले गरीब तबके व जरूरतमंद परिवारों की सहायता के लिए उनका परिवार आगामी 14 अप्रैल तक सहयोग जारी रखेगा। करीबन 400 रुपए की लागत से बनाई गई राशन सामग्री में आटा, चावल, तेल, मिर्ची, साबुन, दाल को शामिल किया गया है।

---000---

जिला कलक्टर एवं एसपी ने किया जिले का दौरा,

रामदेवरा में प्रवासी श्रमिकों के लिए किए प्रबन्घों का जायजा लिया

जैसलमेर, 1 अप्रेल/जिला कलक्टर नमित मेहता एवं जिला पुलिस अधीक्षक डॉ. किरण कंग ने बुधवार को जैसलमेर जिले के विभिन्न क्षेत्रों का दौरा किया और लॉक डाउन से संबंधित व्यवस्थाओं के साथ ही कोरोना संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के लिए जिले में किए जा रहे ऎहतियाती उपायों के बारे में जानकारी ली।

जिला कलक्टर एवं जिला पुलिस अधीक्षक ने पुलिस एवं प्रशासन के अधिकारियों के साथ रामदेवरा में प्रवासी श्रमिकों के लिए की गई व्यवस्थाओं का जायजा लिया और इनसे संबंधित तमाम प्रबंधों के बारे में अधिकारियों से चर्चा की।

700 से अधिक श्रमिकों की स्क्रीनिंग हुई, रोज स्क्रीनिंग करने के दिए निर्देश

जिला कलक्टर एवं एसपी को बताया गया कि मौके पर चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की टीम ने 700 से अधिक श्रमिकों की मेडिकल स्क्रीनिंग की गई। जिला कलक्टर ने इन सभी लोगों की रोजाना स्क्रीनिंग करने के निर्देश दिए।

---000---

जरूरत पड़ने पर केजीबीवी में उपलब्ध खाद्य सामग्री का हो सकेगा उपयोग

जैसलमेर, 1 अप्रेल/कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए जारी लॉक डाउन अवधि में आवश्यकता के अनुसार समग्र शिक्षा के अन्तर्गत संचालित केजीबीवी में उपलब्ध खाद्य सामग्री का उपयोग किया जा सकता है। इस बारे में राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद के राज्य परियोजना निदेशक अभिषेक भगोतिया ने आदेश जारी कर जिला कलक्टरों को इसके लिए अधिकृत किया है।

---000---

सोशल डिस्टेंसिंग के साथ हो रहा राशन वितरण

जैसलमेर, 1 अप्रेल/जिले में उचित मूल्य की दुकानों पर राशन वितरण का काम जारी है।  राशन की दुकानें खुली हैं तथा शहरी और ग्रामीणों को लॉक डाउन के हालातों के बावजूद आसानी से राशन मिल रहा है। जिला रसद अधिकारी भागुराम महला ने उचित मूल्य दुकानों का बुधवार को निरीक्षण किया और राशन वितरण कार्य को देखा। सभी स्थानों पर निर्देशानुसार बाकायदा सोशल डिस्टेंसिंग रखकर राशन वितरण का कार्य किया जा रहा है।

---000---

मीडिया ब्रीफिंग नोट 1 अप्रेल 2020


 

संकट काल में भामाशाह आगे आए/ मेसर्स प्रभुदान देथा & कम्पनी ने कलेक्टर को सौंपा 2 लाख 51 हज़ार का चेक

 

जैसलमेर/1 अप्रैल

 

कोरोना के संकटकाल में जैसलमेर के भामाशाह आगे आकर प्रशासन के साथ मदद में कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हो रहे हैं। इसी कड़ी में आज जैसलमेर की मेसर्स प्रभुदान देथा & कम्पनी ने जिला कलेक्टर को 2 लाख 51 हज़ार का चेक सौंपा। 

 

जिला कलेक्टर नमित मेहता को आज कम्पनी प्रतिनिधि के तौर पर श्री सवाईदान,श्री कल्याणदान ने चेक सौंपा। साथ ही और भी मदद के लिए हमेशा तैयार रहने की बात कही। जिला कलेक्टर नमित मेहता ने आभार जताते हुए धन्यवाद दिया।

 

जीवनदान,शंकरदान व सिकंदर शेख रहे साथ।

----------------------------

जैसलमेर - कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए पर्याप्त मात्रा में सेनेटाईजर हैं उपलब्ध,

बचाव टीमों में जुटे सरकारी कार्मिकों के लिए निःशुल्क,

निजी क्षेत्र के जरूरतमन्द रियायती दर पर खरीद सकते हैं सेनेटाईजर,

एक सेनेटाईजर की कीमत है 37.50 रुपए

जैसलमेर, 1 अप्रेल/जैसलमेर जिले में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए किए जा रहे उपायों के अन्तर्गत पर्याप्त मात्रा में हैंड सैनेटाईजर्स की उपलब्धता सुनिश्चित की गई है।

जिले में कोरोना महामारी से निपटने के लिए जिला कलक्टर के अधीन कार्यरत विभिन्न टीम प्रभारियों को राज्य सरकार द्वारा उपलब्ध कराए गए हैंड सैनेटाईजर्स जिला कलक्टर के आदेशानुसार निःशुल्क उपलब्ध कराए जा रहे हैं ताकि इस कार्य में लगे कार्मिक संक्रमण से बच सकें।

इस हेतु जिला कलक्टर द्वारा जिला आबकारी अधिकारी जैसलमेर को प्रभारी अधिकारी बनाया गया है तथा जैसलमेर में गांधी कॉलोनी स्थित राजस्थान राज्य बे्रवरेज कारपोरेशन के डिपो से हैंड सैनेटाईजर्स वितरित किए जा रहे हैं।

अभी तक जिला पुलिस अधीक्षक, सी.एम.एच.ओ., पी.एम.ओ. उपखण्ड अधिकारियों, उपायुक्त उपनिवेशन, जिला रसद अधिकारी, नगर परिषद् जैसलमेर, नगरपालिका पोकरण, ब्लॉक बी.सी.एम.ओ., मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी आदि के माध्यम से कार्मिकों को निःशुल्क हैंड सैनेटाईजर्स वितरित किए गए हैं। कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए लगाए गए कार्मिकों के लिए पर्याप्त मात्रा में निःशुल्क हैंड सैनेटाईजर्स उपलब्ध हैं।

जिला आबकारी अधिकारी ने बताया कि 3 अपे्रल से राजस्थान राज्य बे्रवरेज कारपोरेशन के डिपो के माध्यम से जिला कलक्टर द्वारा अधिकृत की गई एंजेसियों यथा मेडिकल स्टोर, जिला अस्पताल, स्वास्थ्य विभाग, प्राईवेट अस्पताल, राजकीय चिकित्सालय, चिकित्सा से जुडे संस्थान, स्वयं सेवी संस्थाओं, शराब अनुज्ञाधारी को कीमतन हैंड सैनेटाईजर्स उपलब्ध करवाए जाएंगे। इन संस्थानों को 180 मिली का एक हैंड सैनेटाईजर 37.50 रूपये में उपलब्ध कराया जाएगा तथा इसका अधिकतम विक्रय मूल्य 50 रूपये निर्धारित है।  कोई भी अधिकृत एजेंसी अधिकतम विक्रय मूल्य से अधिक राशि नहीं ले पाएगी। जिले में कीमतन उपलब्ध कराए जाने वाले हैंड सैनेटाईजर पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं तथा आमजन को सहज रूप से उपलब्ध कराने हेतु समुचित व्यवस्था की जा रही है।

---000---

जिला कलक्टर ने ली डेली रिव्यू मीटिंग,

जिले के हालातों व ऎहतियाती तैयारियों की समीक्षा की,

दिए आवश्यक दिशा-निर्देश, कहा - हमेशा रहें मुस्तैद

 

जैसलमेर, 1 अप्रेल/ जिला कलक्टर नमित मेहता ने बुधवार शाम जिला कलक्टर चैम्बर में प्रशासनिक और विभागीय अधिकारियों की बैठक ली और जिले में कोरोना संक्रमण से बचाव तथा इसके लिए जारी ऎहतियाती उपायों एवं लॉक डाउन की स्थितियों की समीक्षा की और आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

बैठक में मुख्य कार्यकारी अधिकारी ओमप्रकाश, नगर विकास न्यास के सचिव अनुराग भार्गव, सहायक निदेशक (लोक सेवाएं) भारतभूषण गोयल, उपखण्ड अधिकारी दिनेश विश्नोई, तहसीलदार विकास भाटी, नगर परिषद आयुक्त बृजेश राय, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.के. बारूपाल, प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ. बी.एल. बुनकर, जिला रसद अधिकारी भागुराम महला, मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी सत्येन्द्र कुमार व्यास सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

जिला कलक्टर ने वर्तमान हालातों के मद्देनज़र प्रत्येक बिन्दु पर चर्चा की और सभी व्यवस्थाओं को पर्याप्त एवं बेहतर रखने के निर्देश दिए। उन्होंने मॉस्क एवं सेनेटाईजर की उपलब्धता बनाए रखने, क्षेत्रवार मेडिकल की दुकानों पर मॉस्क एवं राजस्थान राज्य बे्रवरेज कॉरपोरेशन द्वारा जिले को प्राप्त सेनेटाईजर की बिक्री हेतु उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए और बताया कि सेनेटाईजर पर्याप्त संख्या में  उपलब्ध हैं और इसकी कोई कमी नहीं है।

उन्होंने लॉक डाउन की गंभीरता से पालना कराने, ऎहतियात के तौर पर आइसोलेशन वार्ड की व्यवस्था रखने, अस्पतालों मेें आईसोलशन सेंटर तथा अन्य सभी प्रकार की व्यवस्थाओं की तैयारी रखने आदि के निर्देश दिए। इसके अलावा जिला कलक्टर ने सभी संबंधित अधिकारियों को विभिन्न व्यवस्थाओं के प्रति हमेशा मुस्तैद रहने के लिए कहा।

---000---

जैसलमेर के भामाशाहों द्वारा योगदान का सिलसिला जारी,

, अब तक 45 लाख 15 हजार की आर्थिक सहायता संग्रहित

 

जैसलमेर, 1 अपे्रेल/कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के उपायों और लॉक डाउन की स्थिति में जरूरतमन्दों को सहयोग के लिए जैसलमेर जिले के भामाशाह लगातार बढ़-चढ़ कर हिस्सा ले रहे हैं।

     प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री की अपील पर जैसलमेर जिले में अब तक कुल 45 लाख 15 हजार 47 रुपए का आर्थिक योगदान प्राप्त हुआ है। जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ओमप्रकाश ने बताया कि बुधवार अपराह्न तक जिला कलक्टर राहत कोष में 29 लाख 50 हजार 947 रुपए की आर्थिक सहायता के चैक प्राप्त हुए। मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए 15 लाख 12 हजार 100 रुपए तथा प्रधानमंत्री राहत कोष में 52 हजार रुपए की आर्थिक सहायता के चैक प्राप्त हुए।

---000---

जैसलमेर - ग्रामीण क्षेत्र की 10 स्कूलों के 62 कक्षों का अधिग्रहण,

कोरोन्टाईन केन्द्र के रूप में किया गया घोषित

जैसलमेर, 1 अपे्रल/जैसलमेर के उपखण्ड अधिकारी दिनेश विश्नोई ने एक आदेश जारी कर जैसलमेर उपखण्ड क्षेत्र अन्तर्गत ग्रामीण क्षेत्रों के 10 विद्यालयों को अधिग्रहित कर कोरोन्टाईन केन्द्र के रूप में घोषित किया है।

इसके अनुसार बेलदारों की ढाणी, रेवतसिंह की ढाणी एवं थैयात के राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय, केसूओं की ढांणी(अमरसागर) एवं जीपीएस मूल सागर के राजकीय प्राथमिक विद्यालय तथा बासनपीर जूनी व बड़ा बाग के राजकीय माध्यमिक विद्यालय और सुल्ताना, धऊवा एवं चांधन के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालयों के कुल 62 कक्षों  को अधिग्रहित किया है और इन सभी के लिए इन विद्यालयों के संस्था प्रधान प्रभारी नियुक्त किए गए हैं। इन सभी केन्द्रों का प्रभारी जिला शिक्षा अधिकारी (प्रारंभिक) दलपतसिंह को बनाया गया है।

आदेश में कहा गया है कि इन विद्यालयों के संस्थाप्रधान अपने समस्त कार्मिकों के साथ समयानुसार विद्यालय में उपस्थित होकर सभी प्रकार की व्यवस्थाओं को तत्काल प्रभाव से सुनिश्चित करेंगे।

---000---